जेवर में बनेगा फार्मा डिवाइस पार्क, योगी सरकार ने केंद्र को लिखा पत्र

ABHISHEK SHARMA

0 190

देश की सबसे बेहतरीन फिल्म सिटी व टॉय सिटी के बाद अब योगी सरकार यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में चिकित्सकीय उपकरणों का पार्क बनाने जा रही है। प्रस्ताव के अनुसार करीब 350 एकड़ में बनने वाले इस पार्क में 5,250 करोड रुपए का निवेश होगा।

मामला करोड़ों लोगों की सेहत से जुड़ा है, लिहाजा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद इसमें रूचि ले रहे हैं। सीएम योगी इस संबंध में केंद्रीय उर्वरक एवं रसायन मंत्री डीबी सदानंद गौड़ा को पत्र भी लिख चुके हैं। पत्र में फार्मा पार्क के बाबत प्रदेश में उपलब्ध आधारभूत सुविधाओं का जिक्र करते हुए उन्होंने लखनऊ या नोएडा में फार्मा डिवाइस पार्क आवंटित करने का अनुरोध किया है।

बता दें कि देश में चिकित्सकीय उपकरणों का कारोबार करीब 40,000 करोड रुपए का है। 80 फ़ीसदी उपकरण विदेशों, खासकर चीन से आयात किए जाते हैं। इसमें स्टैथोस्कोप से लेकर ग्लूकोमीटर और एमआरआई स्कैनर जैसे आम प्रयोग में आने वाले उपकरण भी हैं।

बढ़ती आय और सेहत के प्रति बढ़ती जागरूकता के मद्देनजर इनकी मांग और बढ़ेगी। आयात महंगा होने से इन से होने वाली जांच भी महंगी होती हैं। रखरखाव का संकट अलग से। यही वजह है कि नीति आयोग केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और केंद्र से संबंधित विभागों ने तय किया है कि क्यों न दवाइयों और चिकित्सकीय उपकरणों में क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने और प्रधानमंत्री मोदी के मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिए देश में ही फार्मा उपकरण बनाए जाएं।

इसी क्रम में केंद्रीय कैबिनेट भी देश में चार ऐसे पार्क बनाने का निर्णय ले चुकी है। मुख्यमंत्री का केंद्रीय मंत्री को लिखा गया पत्र भी इसी संदर्भ में हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.