पीएम मोदी ने 20 लाख करोड के आर्थिक पैकेज के साथ लॉकडाउन 4 का किया ऐलान

ROHIT SHARMA

0 158

नई दिल्ली :– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज राष्ट्र को संबोधित किया है | आपको बता दे कि लॉकडाउन 3.0 की अवधि 17 मई को खत्म हो रही है, इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने एक बार फिर देश के नाम संबोधन से लॉकडाउन के चौथे चरण का ऐलान किया है |

उन्होंने कहा की कोरोना वायरस से लड़ते हुए हमें तीन महीने हो गए हैं , भारत में लोगों ने अपने स्वजन खोए हैं , मैं उनके प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं | विश्व की आज की स्थिति हमें सिखाती है कि इससे लड़ने का एक ही मार्ग है, आत्मनिर्भर भारत | पीएम मोदी ने कहा ऐसा संकट हमने न पहले देखा न सुना था. यह त्रासदी अकल्पनीय और अभूतपूर्व है लेकिन टूटना, बिखराना मानव को स्वीकार्य नहीं है. हमें इस जंग में सतर्क रहकर बचना भी है और आगे भी बढ़ना है |

पीएम ने कहा कि पिछली शताब्दी से ही सुनते आए हैं कि 21वीं सदी हिंदुस्तान की होगी |  कोरोना संकट के दौरान हमें स्थितियों को अच्छे से देखने-समझने का मौका मिला है | आपदा को अवसर में बदलने की भारत की आदत हमें आत्मनिर्भर में बदलने वाली है.| भारत जब आत्मनिर्भरता की बात करता है तो आत्म केंद्रित होने की बात नहीं करता है | जो संस्कृति जय जगत की बात करती हो, जो मानव मात्र का कल्याण चाहती हो, जो संस्कृति पृथ्वी को मां मानती हो, वह संस्कृति जब आत्मनिर्भर बनती है तो यह विश्व की प्रगति का भी जरिया बनती है |

नरेंद्र मोदी ने कहा कि दुनिया को विश्वास होने लगा है कि भारत बहुत अच्छा कर सकता है, मानव जाति के कल्याण के लिए बहुत कुछ अच्छा दे सकता है |  130 करोड़ देशवासियों का आत्मनिर्भर भारत का संकल्प इसके लिए जरूरी है | पीएम मोदी ने कहा मैंने अपनी आंखों के सामने कच्छ भूकंप के दिन देखे हैं, सब ध्वस्त हो गया था, ऐसा लगता था मानो कच्छ मौत की चादर ओढ़ के सो गया है, तब किसी को भी नहीं लगा था कि हालात बदलेंगे, लेकिन कच्छ ठीक हुआ. हम ठान लें तो कुछ भी मुश्किल नहीं, ये है भारत को आत्मनिर्भर बनाना |

पीएम ने कहा भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उसे पांच पिलर पर खड़ा रहना होगा. पहला पिलर- इकॉनमी , दूसरा पिलर- इंफ्रास्ट्रक्चर , तीसरा पिलर- सिस्टम- जो बीती शताब्दी की रीति नीति नहीं बल्कि 21 शताब्दी की टेक्नोलॉजी आधारित हो , चौथा पिलर- डेमोग्राफी- हमारी बड़ी जनसंख्या हमारी ताकत है , पांचवा पिलर- डिमांड- हमारी अर्थव्यवस्था में डिमांड-सप्लाई की तो ताकत है |

पीएम ने कहा आज मैं एक विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा कर रहा हूं ये आत्मनिर्भर अभियान की अहम कड़ी का काम करेगा. आरबीआई पैकेज और इसे जोड़ दें तो ये 20 लाख करोड़ रुपये का है | विशेष आर्थिक पैकेज ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ की घोषणा की. जो भारत की कुल जीडीपी का 10% के आसपास है. पीएम ने कहा इससे भारतीय उद्योगों को संबल मिलेगा. आत्मनिर्भर भारत अभलैंड, लेबर लिक्विडिटी और लॉ सभी पर इसमें बल दिया गया है. पीएम ने कहा कुटीर उद्योग, व्यापार और एमएसएमई के लिए यह पैकेज हो जो हमारी आर्थिक व्यवस्था का आधार हैं | यह पैकेज किसानों और श्रमिकों के लिए है , यह टैक्स देने वाले आम भारतीय के लिए है |

साथ ही उन्होंने कहा कि कल से आने वाले कुछ दिनों तक वित्तमंत्री इस पैकेज के बारे में विस्तार से जानकारी देंगीं | आपने अनुभव किया है कि बीते 6 सालों में जो रिफॉर्म हुए उससे भारत की अर्थव्यवस्था अधिक सक्षम और अधिक समर्थ नजर आई है. वरना कौन सोच सकता था कि भारत सरकार जो पैसे भेजेगी वो पूरी तरह से गरीब की जेब तक पहुंच पाएगा | रेशनेल टैक्स सिस्टम, समर्थ और सक्षम ह्यूमन रिसोर्स, मजबूत फाइनेंस के लिए ये रिफॉर्म होंगे | ये बिजनेस और निवेश को प्रोत्साहित करेंगे और मेक इन इंडिया को भी बढ़ावा देंगे |

मोदी ने कहा कि ये संकट इतना बड़ा है कि दुनिया की अर्थव्यवस्थाएं हिल गई हैं. इस समय देश ने हमारे देश ने हमारे श्रमिक कामगार भाइयों बहनों के संयम के भी दर्शन किए हैं. अब हमारा कर्तव्य है उनके लिए काम करने का | इस संकट में हर गरीब भाई बहन का भी ध्यान रखा जाएगा. गरीब, श्रमिक, प्रवासियों, मछुआरों को मजबूत बनाने के लिए आर्थिक पैकेज में कई कदमों का ऐलान किया जाएगा |

पीएम मोदी ने कहा आज से हर भारतवासी के लिए हर लोकल के लिए वोकल बनना है, न सिर्फ लोकल प्रोडक्ट्स खरीदने हैं बल्कि उनका गर्व से प्रचार भी करना है. मुझे विश्वास है मेरा देश ऐसा कर सकता है |

पीएम मोदी ने कहा लॉकडाउन का चौथा चरण पूरी तरह नए रंग रूप वाला और नए नियमों वाला होगा. राज्यों से मिल रहे सुझावों के आधार पर. लॉकडाउन 4 की जानकारी आपको 18 मई से पहले दी जाएगी.| वैज्ञानिक बताते हैं कि कोरोना लंबे समय तक हमारी जिंदगी का हिस्सा बना रहेगा लेकिन हम अपनी जिंदगी को इस तक ही नहीं सिमटने देंगे हम मास्क पहनेंगे और दो गज दूरी का पालन करेंगे लेकिन लक्ष्यों को प्रभावित नहीं होने देंगे |

नई प्राण शक्ति और नई संकल्प शक्ति लेकर हमें आगे बढ़ना है | पीएम मोदी ने कहा जो हमारे बस में है, जो हमारे नियंत्रण में है, वही सुख है, आत्म निर्भरता हमें सुखी करने के साथ सशक्त भी करती है. 21वीं सदी का भारत का संकल्प भारत को आत्मनिर्भर बनाने से ही पूरा होगा | हम भारत को आत्मनिर्भर बनाकर रहेंगे |

Leave A Reply

Your email address will not be published.