परीचौक पर पुलिसकर्मी ने कासना डिपो के परिचालक के साथ की मारपीट, धरने पर बैठे सभी चालक व परिचालक

Abhishek Sharma Photo & Video By Saurabh Kumar

0 260
Greater Noida (28/12/18) : ग्रेटर नोएडा डिपो रोडवेज बस के चालक व परिचालक ने गुरूवार की रात से किया डिपो में हंगामा। बीती रात परी चौक पर कासना पुलिस ने चालक कृष्ण कुमार के साथ की थी मारपीट और हिरासत में लेकर फर्जी केस में फंसाने की धमकी दी। इसके विरोध में सभी कासना रोडवेज बस के चालक परिचालक आज सुबह हड़ताल पर बैठ गए। जिसके चलते यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। कासना डिपो के चालकों व परिचालकों की हड़ताल के चलते परीचौक से लोनी बस डिपो का संचालन कराया गया जिससे यात्री अपने गंतव्य स्थान पर समय से पहुँच सके।

मामला बीती रात का है जब परीचौक से बोटैनिकल जाने वाली बस का परिचालक सवारियों को बस में बैठा रहा था तो परीचौक स्थित चौकी के एक पुलिसकर्मी ने बस में डंडे मारने शुरू कर दिए इसपर परिचालक ने विरोध किया तो उसे पुलिसकर्मी ने गालियां बकना  शुरू कर दिया। परिचालक के विरोध पर उसे चौकी के अंदर ले जाया गया और उसके साथ खूब मारपीट की गई। ‘
परिचालक कृष्ण कुमार ने बताया कि “रात्रि के समय परीचौक पर जब वह सवारियों को ले बस में बैठा रहे थे तो पुलिसकर्मी ने उन्हें बस से नीचे उतारा और बस को वहीँ रोक दिया। आधे घंटे वहीं खड़ा रखने के बाद गाली गलौच की जिसके बाद पुलिस कर्मी ने धमकी देते हुए कहा कि जिसको बुलाना है बुलाओ लेकिन तुम्हे यहाँ से जाने नहीं देंगे”।

उन्होंने बताया कि “मैंने यूनियन अध्यक्ष को फ़ोन किया और पुलिसकर्मी से बात कराना चाहा इसपर उन्होंने फोन छीना और चौकी के अंदर घसीट कर ले गए। अंदर ले जाते समय परिचालक की जेब से खुल्ले पैसे बिखर गए तो इसपर पुलिसकर्मी से कहा कि तू हमें फंसाएगा। परिचालक ने बताया कि अंदर ले जाकर पुलिस वालों ने उनके साथ जमकर मारपीट की और झूठे केस में फंसने तक की धमकी दे डाली। उन्होंने बताया कि मेरे साथ मारपीट करने के बाद दरोगा ने कई बार अपना सिर दीवार में मारा जिससे कि परिचालक को झूठे केस में फंसाया जा सके। इसके बाद जब परिचालक ने हाथ पैर जोड़े तो पुलिसकर्मी परिचालक को थाने ले गए और लड़की के केस में फंसने तक की बात कह डाली। इसके बाद परिचालक की तरफ से किसी व्यक्ति ने थाने में पात्र लिखकर दिया तब परिचालक को छोड़ा गया”।

धरने पर बैठे सभी चालक एवं परिचालकों ने पिटाई करने वाले दारोगा को बर्खास्त करने की मांग रखी है। मौके पर सीओ ग्रेटर नोएडा निशांक शर्मा पहुंचे और उन्होंने लोगों को शांत करने की कोशिश की हालंकि वो इसमें विफल रहे। इसके बाद गौतमबुद्धनगर के यूपीएसआरटीसी के क्षेत्राधिकारी अशोक कुमार व थाना प्रभारी ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही और धरने को समाप्त किया गया।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.