R C Bhargava CMD MARUTI – @BIMTECHNoida CONVOCATION ADDRESS HIGHLIGHTS

0 149

ग्रेटर नोएडा स्तिथ बिरला प्रबन्धन प्रोद्योगिकी संस्थान में आज २८वे दीक्षान्त समारोह का आयोजन किया गया, इस समारोह का आरंभ ६:१५ हुआ| इस अवसर पर पद्म भूषण आर सी भार्गव, पूर्व सीईओ और मौजूदा अध्यक्ष, मारुति सुजुकी, मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित हुए| इस मौके पर कैंपस में स्टूडेंट्स के साथ उनके पैरेंट्स भी मोजूद रहे| इस मौके पर कॉलेज के निदेशक डॉ. एच. चतुर्वेदी ने अपने स्वागत भाषण से मुख्य अतिथि का स्वागत किया|

इसके पश्चात डॉ. एच. चतुर्वेदी ने शिक्षकों एवं छात्रों को संबोधित करते हुए कॉलेज की सालाना प्रगति रिपोर्ट पेश की अथवा बिमटेक के विजन स्टेट्मेंट – २०२० के बारे में बताया इसमे वर्ष २०१५-१६ की उपलब्धियों का वर्णन करते हुए,उन्होंने बताया की बिमटेक,नेशनल HRD नेटवर्क और पीपल मैटर्स बी स्कूल्स सर्वे 2015 के अनुसार इस वर्ष देश के सर्वश्रेष्ठ निजी बी-स्कूल में 6वे और सारे बी – स्कूल्स में 15वें स्थान पर रहा| इसके बाद दीक्षांत समारोह की कार्यवाही आरंभ हुई|
BIMTECHConvocation 1

इसके पश्चात छात्रों को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि आर सी भार्गव ने सतत शिक्षा पर ज़ोर दिया तथा दीक्षांत समारोह के महत्व को बताते हुए एक छात्र के जीवन में इसकी महत्वता को समझाया, उन्होंने बताया कि इसके बाद छात्र की अकादमिक शिक्षा की इतिश्री हो जाती हैं, और तबसे बाहरी दुनिया में सीखने की प्रक्रिया आरंभ होती है| उन्होंने बताया कि बाहरी दुनिया का ज्ञान अर्जित कर सफलता पाने के लिए अकादमिक ज्ञान कितना आवश्यक है| उन्होंने बताया की सफल व्यक्ति के सीखने की प्रक्रिया सतत अंतत तक चलती रहती है,जो सीखने की प्रक्रिया से बाहर हो जाता है,वो लम्बे समय तक सफल नहीं रह सकता!
उनके अनुसार औद्योगिक एवं व्यापारिक जगत के वही लीडर प्रभावी तथा कामयाब हो सकते है जो किसी भी देश में वहां की राजनीतिक,आर्थिक एव सामाजिक परिस्थीतियो को अच्छी तरह समझकर उसके अनुसार कार्य करते है| उन्होंने बताया की हमारे पुराने अनुभव तथा ग्लोबल लीडर की आम राय से हम ये कह सकते है,कि यदि भारत को १५% की दर से तरक्की करनी है तो निजी क्षेत्र तथा व्यापार को सुद्रढ़ करना होगा,जहाँ से आर्थिक विकास को गति मिलेगी| पर राजनीतिक नीतिकार एवं व्यापारिक समुदाय में तालमेल में कमी के इसका ख़ामियाज़ा दोनों को भुगतना पड़ रहा है,जो देश की आर्थिक वर्दी दर को प्रभावित कर रहा है|

उन्होंने यह भी बताया की भारत में प्रबंधन की सारी शिक्षा पश्चिमी देशो से प्रेरित है| हम पश्चिमी देशों से काफी कुछ सीख सकते है, अगर हम सोचे की पश्चिमी देशों को नज़रअंदाज़ किया जा सकता हैं तो ये हमारी सबसे बड़ी भूल होगी| हमे पश्चिमी सभ्यता को सीधा कॉपी करने की आवश्यकता नहीं है, हम उनके वहां प्रचलित अच्छी प्रथाओ को भारतीय संस्कृति के अनुसार यहाँ लागू कर सकते है|

इसके बाद उन्होंने सरे अतिथिगणों एवं संस्थान का आभार व्यक्त करते हुए अपने मूल्यवान भाषण की इतिश्री करते हुए छात्रों को उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी तथा शिक्षकों को उनके योगदान के लिए बधाई दी|

इसके पश्चात् द्वितीय वर्ष के मयंक गाँधी व कनिका गोयल ने २ -२ मिनट का विदाई भाषण दिया तथा अपने संस्थान में बिताए खूबसूरत २ वर्षो को याद करते हुए सबके उज्जवल भविष्य की कामना की|

BIMTEC2

इसके बाद संस्थान की शिक्षा तथा पाठ्येतर गतिविधियाँ जैसी विभिन्न क्षेत्रो में शीर्ष रहे विद्यार्थियों को स्वर्ण पदक देकर सम्मानित किया गया, उनके नाम निम्नलिखित हैं –

१). कनिका गोयल PGDM

२). मानसी शर्मा (PGDM-IB)

३) लुपमुदरा पाठक (PGDM-IBM)

४) सोनल गुप्ता (PGDM-RM)

५) रूचि अगरवाल (MARKETING)

६) सोनम बिजानी (OPERATIONS)

७) कनिका गोयल (FINANCE)

८) आस्था गर्ग (HR)

९) अमन गाँधी (ALL-ROUND MALE)

१०) दिव्या सचदेवा (ALL-ROUND FEMALE)

११) कनिका गोयल (PGDM FEMALE)

१२) मानसी शर्मा (PGDM-IB FEMALE)

इसके पश्चात् सारे अतिथिगणों के लिए प्रीति भोज का प्रबंध था,जहाँ सभी छात्रों व शिक्षकों ने एक साथ भोजन किया|इसके के साथ ही आज के सफल दिन का समापन हो गया |

बिमटेक के बारे में-

बिमटेक की स्थापना सन 1988 बिरला अकादमी (कला और संस्कृति) के तत्वावधान के साथ हुआ, जिसे बिरला समूह द्वारा स्थापित किया गया था. स्वर्गीय डॉ (श्रीमती) सरला बिड़ला, और श्री बी. के. बिड़ला, अध्यक्ष (बिड़ला समूह ) इस बिज़नेस स्कूल के संस्थापक हैं|

इस संस्थान के बोर्ड ऑफ़ गवर्नर उद्योग जगत के प्रख्यात लोग हैं , जिसको श्रीमती जयश्री मोहता, अध्यक्ष, बिड़ला अकादमी (कला और संस्कृति) अपना नेतृत्व प्रदान कर रही हैं| बिमटेक अपने आप में एक लघु भारत के सामान हैं | इसमें भारत के विभिन्न प्रान्तों के अलावा विदेशी छात्रों का अच्छा समागमन हैं| इस समागमन से राष्ट्रीयता, सांस्कृतिक पृष्ठभूमि, शैक्षिक और व्यावसायिक का तालमेल बिमटेक को अन्य बिज़नेस कॉलेजों से रोमांचक और समृद्ध बनता हैं| इस इंस्टिट्यूट की लम्बे विश्वास की, यह तालमेल भविष्य के वैश्विक प्रबंधकों को उजागर करेगा|

बिमटेक के अत्यधिक अनुकूल शैक्षणिक माहौल में शामिल हैं:- व्यावसायिक उद्योग के अनुभव, विनिर्माण और सेवा उद्योग के प्रोफेशनल लोगों के अनुभव , अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालयों के परस्पर सहयोग और फर्मों की ज्ञान | इसके अलावा पूर्व छात्रों का बहुत बड़ा नेटवर्क हैं जोकि आपस में एक परिवार की तरह जुड़े हुये हैं|

बिमटेक,नेशनल HRD नेटवर्क और पीपल मैटर्स बी स्कूल्स सर्वे 2015 के अनुसार इस वर्ष देश के सर्वश्रेष्ठ निजी बी-स्कूल में 6वे और सारे बी – स्कूल्स में 15वें स्थान पर रहा|

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.