- Advertisement -

इंसान नहीं अब रोबोट दूर करेगा ग्रेटर नोएडा में सीवर जाम होने की समस्या, जानें कैसे

TEN NEWS NETWORK

Greater Noida : सीवर लाइन जाम होने पर मैनहोल की सफाई करते समय जहरीली गैस से मजदूरों की मौत का मामला आए दिन सामने आता है। जिससे बचने के लिए अब ग्रेटर नोएडा में रोबोट सीवर की सफाई करेगा। जिसकी फाइनेंशियल बिड बीते दिन खुली। अगले माह रोबोट ग्रेटर नोएडा आ जाएगा।

आपको बता दें कि इस पर करीब 40 लाख रुपये खर्च हो रहे हैं। आबादी कम होने के बावजूद ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में अभी से सीवर से जुड़ी समस्या आने लगी है। मैनहोल में घुसकर इसे ठीक करने से मजदूरों की जान जोखिम में रहती है। ऐसे में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने रोबोट खरीदने का प्लान बनाया। इसका टेंडर निकाला गया।

टेंडर के जरिये एक कंपनी का चयन हुआ है। शुक्रवार को फाइनेंशियल बिड खुली है। कंपनी फरवरी में ही रोबोट दे देगी। फिलहाल एक ही रोबोट खरीदा गया है। अगर यह कामयाब रहा तो एक-दो रोबोट और खरीदने का प्लान है।

सीईओ नरेंद्र भूषण ने बताया कि सीवर में जहरीली गैसों से जान जाने का खतरा रहता है। रोबोट से यह दिक्कत दूर हो जाएगी। फरवरी में ही एक रोबोट मिलने की उम्मीद है। केरल, तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश में नगर निकाय पहले ही बैंडीकुट नाम के रोबोट से काम करवा रहे हैं। इसे केरल स्थित स्टार्टअप जेनब्रोटिक्स की तरफ से विकसित किया गया है।

रोबोट को संचालित करने के लिए इन राज्यों में लगभग 80 मैनुअल मैला ढोने वालों को प्रशिक्षित किया गया है। बैंडीकुट एक अर्ध स्वचालित रोबोट है। जिसे मेनहोल के पास सड़क पर खड़े होने के लिए केवल एक मानव ऑपरेटर की आवश्यकता होती है।

कई कैमरों के साथ मशीन 360 डिग्री गतिशीलता के साथ एक रोबोट कचरे को इकट्ठा करने के लिए एक बाल्टी भी साथ में रखता है। ऑपरेटर केवल नेविगेशन के लिए आवश्यक है। एक रोबोट 30 मिनट में तीन श्रमिकों के तीन घंटे के कार्यक्रम का प्रबंधन कर सकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.