भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का कांग्रेस और गुपकर गैंग पर जोरदार हमला

Ten News Network

0 71

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय गृह मंत्री  अमित शाह ने मंगलवार को एक के बाद एक सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए गुपकर गैंग पर जम कर हमला बोला और उस पर जम्मू – कश्मीर में विदेशी दखल देने का आरोप भी लगाया। उन्होंने गुपकर गैंग पर देशद्रोही गतिविधियों में शामिल होने का आरोप मढ़ते हुए उस पर तिरंगे का अपमान करने का इल्जाम भी लगाया।

 

श्री शाह ने कहा कि गुपकर गैंग ग्लोबल हो रहा है! वे चाहते हैं कि विदेशी ताकतें जम्मू और कश्मीर में हस्तक्षेप करे। गुपकर गैंग भारत के तिरंगे का भी अपमान करता है। गुपकर गठबंधन में शामिल एक दल के नेता कहते हैं कि वह चीन के साथ मिलकर अनुच्छेद 370 वापस लाएंगे जबकि दूसरे दल की नेता कहती हैं कि वह तिरंगा न उठाएंगी और न ही उठाने देंगी। एक चीन के साथ मिलना चाहता है और दूसरा तिरंगा नहीं उठाना चाहता है। इन सबके बीच कांग्रेस के नेता कहते हैं कि अनुच्छेद 370 हटाना अनुचित है और वे इसकी वापसी चाहते हैं। देश जानना चाहता है कि क्या कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गाँधी और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी गुपकर गैंग की ऐसी नापाक चालों का समर्थन करते हैं? उन्हें भारत की जनता के सामने अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए।

 

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि कांग्रेस और गुपकर गैंग जम्मू-कश्मीर को आतंक और अशांति के युग में वापस ले जाना चाहते हैं। वे अनुच्छेद 370 को हटाकर दलितों, महिलाओं और आदिवासियों के अधिकारों को छीनना चाहते हैं। यही कारण है कि उन्हें हर जगह लोगों द्वारा अस्वीकार किया जा रहा है।

 

वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि जम्मू और कश्मीर हमेशा से भारत का अभिन्न था, है और रहेगा। भारतीय लोग अब राष्ट्रीय हित के विरुद्ध चलने वाले ऐसे अपवित्र ग्लोबल गठबंधन ’को बर्दाश्त नहीं करेंगे। या तो गुपकर गैंग राष्ट्रीय मूड को समझ जाए या फिर लोग इसे स्वयं ही समाप्त कर देंगे।

 

श्री शाह ने कहा कि कांग्रेस हमेशा देश विरोधियों के साथ खड़ी नजर आती है। कश्मीर में गुपकर डिक्लेरेशन ऑफ पीपुल्स अलायंस हुआ है। इसमें 10 पार्टियां हैं, जिसमें प्रमुख रूप से नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी है और अब कांग्रेस भी उसमें आ रही है। ये जिला विकास परिषद (डीडीसी) के चुनाव के लिए साथ चल रहे हैं। इनका एक निश्चित एजेंडा है कि अनुच्छेद 370 को फिर से लागू किया जाना चाहिए। वे जम्मू-कश्मीर में भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम सहित कुछ कानून नहीं चाहते हैं ताकि वे भ्रष्टाचार जारी रख सकें। अब जबकि कांग्रेस गुपकर गठबंधन में शामिल हो गई है तो उसे यह भी स्पष्ट करना चाहिए कि क्या वह इस नापाक गठबंधन के नेताओं के चीन से मदद लेने वाली बात और तिरंगा न उठाने वाली बात का समर्थन करते हैं या नहीं?

 

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि एक ओर देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास’ के सपने को साकार करते हुए जम्मू एवं कश्मीर के विकास में समर्पित हो कर लगे हुए हैं, वहीं दूसरी ओर कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी राजनीतिक दल लगातार देश के खिलाफ काम कर रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.