सेवापुरी ब्लॉक के 87 गॉवो में लगे चार चाँद, बनेगा देश का ‘आदर्श एवं मॉडल विकास खंड’, पढ़े पूरी खबर 

BY ROHIT SHARMA

0 128

नई दिल्ली :– नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने शुक्रवार को वाराणसी के मॉडल ब्लाक सेवापुरी पहुंचे। अधिकारियों और ग्रामीणों के साथ मुलाकाल में किसानों की आय दोगुनी बढ़ाने के टिप्स दिये। उन्होंने कहां कि दोगुनी आय के लिए स्रोत बढ़ाने होंगे। इसके लिए ब्लॉक से लेकर जिले तक के सभी अफसरों को उनकी समस्याओं को दूर करने और हौसला बढ़ाने की जरूरत है। सरकार की विभिन्न योजनाओं के जरिए उन्हें बेहतर विकल्प दिया जाए। कहा कि नई ऊर्जा के साथ पूरे भारत में सेवापुरी को एक नई पहचान दिलाना है ताकि वह नजीर बने।

प्रधानमंत्री के निर्देश पर नीति आयोग की ओर से देश के एक मात्र ब्लॉक को आदर्श बनाने के लिए सभी 87 गांवों को विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित करने और गांवों में मूलभूत सुविधाओं के साथ-साथ ढांचगत विकास कार्य कराए जा रहे हैं। उन्हीं कार्यों का अवलोकन करने आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ब्लॉक मुख्यालय में पहुंचे थे। यहां सभागार में जिला व ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक ली। कहा कि पीएम ने सेवापुरी ब्लाक को संपूर्ण विकास के लिए मॉडल ब्लॉक के रूप में विकसित करने का संकल्प लिया है।

इसमें प्रमुख रूप से शिक्षा, स्वास्थ व किसानों की आय बढ़ाने के लिए विभिन्न योजनाओं के जरिए पहल की जानी है। प्रधानमंत्री की सोच है कि किसानों की आय दोगुनी की जा सके। इसके लिए हर गांव को विकसित करने के लिए एक जनांदोलन खड़ा करना होगा। इसमें अफसर, कर्मचारी, जनप्रतिनिधि के सहयोग से कार्य कराया जाए।

वही इस मामले में बेसहूपुर गॉव के निवासी प्रवीण कुमार मौर्य का कहना है कि सेवापुरी ब्लॉक आज देश का पहला मॉडल विकास खंड बन गया है | पहले हमारे ब्लॉक में दसवीं तक स्कूल नहीं थे , लेकिन आज 10वी तक स्कूल हमारे ब्लॉक में है | साथ ही हमारे यहाँ मछली पालन किया जा रहा है , जिसके लिए कई जगह तालाब बनवाए गए है | महिलाओं के लिए भी रोजगार की व्यवस्था मोदी सरकार के द्वारा की गई है |

प्रवीण मौर्य ने कहा की देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस तरह विकास की लहर चलवा रखी है , आने वाले समय हर गॉव , ब्लॉक और जिला में सभी के लिए रोजगार समेत उच्च शिक्षा की व्यवस्था होगी |

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत समूह की महिलाओं के उत्थान के लिए 47 लाख रुपए का चेक दिया। किसानों के उत्थान के लिए बैंकों की ओर ऋण भी दिया गया। स्मार्ट टेक्नोलॉजी से पूरे ब्लॉक को विकसित करने की कार्ययोजना बनाई जा रही है ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.