नोएडा में मनाया गया शौर्य दिवस समारोह , कारगिल युद्ध में शहीद हुए कैप्टन विजयंत थापर को दी श्रद्धांजलि

ROHIT SHARMA / RAHUL JHA

432

नोएडा :– नोएडा के वीर बहादुर लाल एवं कारगिल युद्ध में अपने प्राणों का सर्वोच्च बलिदान देने वाले अमर शहीद कैप्टन के 20वें शाहदत दिवस पर देशभक्ति गीतों से सजी श्रद्धांजलि संध्या शौर्य दिवस समारोह का आयोजन नोएडा के सेक्टर – 6 स्थित नोएडा के एनईए सभागार में आयोजन किया गया।



आपको बता दें कि कारगिल युद्ध 1999 में हुआ था, जिसमें देश के नौजवान सैकड़ों सैनिकों ने कुर्बानी दी थी, जिनमें से नोएडा के एक बहादुर ऑफिसर कैप्टन विजयंत थापर ने अपने बलिदानों की आहुति देते हुए अनेकों दुश्मनों को मार गिराया था।

20 साल पहले 29 जून को कैप्टन विजयंत थापर शहीद हुए थे , जिनकी याद में प्रतिवर्ष नोएडा में शौर्य दिवस मनाया जाता है। हर वर्ष उनके बलिदान को याद किया जाता है , हर वर्ष 29 जून को नोएडा की विभिन्न संस्थाएं मिलकर बलिदान दिवस का आयोजन करते हैं।

नवरत्न फाउंडेशन के संस्थापक अशोक श्रीवास्तव  ने कहा कि आज शहीद कैप्टन विजयंत थापर के बलिदान दिवस पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया ,  जिसमें सरकार की तरफ से बिना किसी सहायता के नोएडा की कई संस्थाएं मिलकर आयोजन किया , साथ ही शहीद कैप्टन विजयंत थापर के बारे में लोगों को अवगत भी कराया।

साथ ही इस कार्यक्रम में राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष विमला बाथम , एनईए के अध्यक्ष विपिन मल्हान फ्लाइट लेफ्टिनेंट जेपी शर्मा , ब्रिगेडियर अशोक हक़ , समाजसेविका कल्पना भूषण ,टेन न्यूज़ के संस्थापक गजानन माली , हाई कोर्ट के वरिष्ठ वकील रंजन तोमर , सुरेश तिवारी समेत आदि गणमान्य लोग उपस्थित रहे ।  इस कार्यक्रम में शहीद कैप्टन विजयंत थापर के परिवार समेत नोएडा के गणमान्य लोग शामिल रहे ।

शौर्य दिवस समारोह में कलाकारों ने अद्धभुत प्रस्तुति दी , जिसको दर्शकों ने खूब सरहाया । वही दूसरी तरफ कुछ कलाकारों ने देशभक्ति के गाने गाए , जिसको सुन कर लोग काफी उत्साहित हुए । वही दूसरी तरफ मशहूर गायक दिवाकर ने इस कार्यक्रम में देशभक्ति के गाने गाकर लोगों को तालियाँ बजाने पर मजबूर कर दिया |

साथ ही शहीद हुए कैप्टन विजयंत थापर के पिता कर्नल वीएन थापर ने लोगों को सम्बोधित किया । उन्होंने शहीद हुए कैप्टन विजयंत थापर के बारे में बताया , साथ ही उनका कहना है की 22 राजपूताना राइफल्स में दिसंबर 1998 में कैप्‍टन थापर को कमीशन मिला और विजयंत को देश सेवा का मौका मिला। विजयंत की यूनिट कुपवाड़ा में आतंक विरोधी अभियान चला रही थी, घुसपैठियों को भगाने तोलोलिंग की ओर द्रास भेजी गई। विजयंत ने अपनी आखिर चिट्ठी में लिखा था, ‘प्रिय पापा, मम्मी, बिरदी और ग्रैनी, जबतक आपको ये खत मिलेगा तबतक मैं आप लोगों को आसमान से देख रहा होऊंगा  और अप्सराओं की मेहमान नवाजी का लुत्फ उठा रहा होऊंगा। मुझे कोई पछतावा नहीं है , यहां तक की अगर मैं कभी दोबारा इंसान बना, तो मैं सेना में भर्ती होउंगा और देश के लिए लडूंगा।

एनईए के अध्यक्ष विपिन मल्हान ने शौर्य दिवस समारोह को लेकर लोगों को सम्बोधित किया । उन्होंने कहा कि नोएडा के अंदर अगर शौर्य दिवस समारोह बनाया जाता रहा तो शहीद हुए कैप्टन विजयंत थापर को आने वाली पीढ़ी कभी नही भुल पाएगी । साथ ही उन्होंने कहा कि ऐसा कार्यक्रम नोएडा में हर साल होना चाहिए । जिससे शहीदों की सहादत को कोई भी भूल न सके ।

बता दे कि नोएडा एंटरप्रेन्योर्स, फोनरवा, नोएडा लोक मंच , नवरत्न फाउंडेशन , श्री राम मित्र मंडल, ओम विश्रांति चैरिटेबल सोसायटी, भारत विकास परिषद , दिल्ली हिंदी साहित्य सम्मेलन, स्नेह मंडल, मानव सेवा समिति, एसएससीए, नोवेरा, ट्री, नोफा, नेफोमा, नोएडा प्रेस क्लब, पत्रकार प्रेस परिषद, मुस्लिम एजुकेशनल सोसायटी, नवसृजन सेवा समिति, कल्पना कला केंद्र, ईशान म्यूजिकल कॉलेज , एनएमएम, इंडस्ट्रियल एसोसिएशन नोएडा, इंडियन इंजीनियरिंग एसोसिएशन नोएडा , उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल, नोएडा व्यापारी वेलफेयर एसोसिएशन, लघु उद्योग भारती , उद्योग मंडल नोएडा, एक्स ऑफिसर वेलफेयर समेत कई अन्य संस्थाएं हैं जो इसके आयोजन में अपना सहयोग दिया।

खासबात यह है कि कार्यक्रम लगभग 3 घंटे तक चला ,  जिसमें देश भक्ति के गीत नृत्य की प्रस्तुति दी गई। इस कार्यक्रम में कर्नल थापर को विशेष तौर पर आमंत्रित  किया गया। वहीं देश की रक्षा में शहीद हुए कई अन्य सैनिकों के परिजन भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए। वही दूसरी तरफ इस कार्यक्रम में सभी का सम्मान किया गया , देशभक्ति गीतों के साथ उन्हें श्रद्धांजलि दी गई।

Photo Highlights: Shaurya Diwas Samaroh of Kargil Martyr Capt Vijayant Thapar

 

Video Highlights: Shaurya Diwas Samaroh of Kargil Martyr Capt Vijayant Thapar

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.