शीला दीक्षित ने गाडी से मतदान केंद्र में किया प्रवेश, मतदाताओं ने जताई आपत्ति

Abhishek Sharma / Baidyanath Halder

0 102
New Delhi (12/05/19) : दिल्ली का सबसे घनी आबादी वाला इलाका है उत्तर पूर्वी संसदीय क्षेत्र। यह यमुनापार का हिस्सा है, लेकिन छठ पूजा को छोड़कर यहां रहने वाले लोगों व जनप्रतिनिधियों को कभी यमुना की याद नहीं आती। इसी वजह से यमुना नदी कम बड़ा नाले अधिक दिखती है।

यहां हर तरफ कच्ची कॉलोनियां का जाल है। कॉलोनियों में गंदगी, बिजली, पानी, टूटी सड़कें आदि समस्याओं की भरमार है, लेकिन इस पर कोई बात नहीं करता।  यह लोकसभा सीट वर्ष 2008 में बनी थी। इससे पहले यह पूर्वी दिल्ली संसदीय क्षेत्र का हिस्सा थी। वर्ष 2009 में यहां पहली बार लोकसभा चुनाव हुआ।



पहले चुनाव में इस सीट से कांग्रेस के जयप्रकाश अग्रवाल ने भाजपा के बीएल शर्मा प्रेम को हराया था। इसके बाद वर्ष 2014 में हुए चुनाव में भाजपा प्रत्याशी मनोज तिवारी विजयी रहे थे। दूसरे नंबर पर ‘आप’ उम्मीदवार प्रो. आनंद कुमार थे व कांग्रेस के जयप्रकाश अग्रवाल तीसरे नंबर पर रहे।

वहीं इस बार तीनों मुख्य पार्टियों ने ब्राह्मण चेहरों को मैदान में उतारा है। कांग्रेस ने शीला दीक्षित को, तो आप ने दिलीप पांडेय को तो वहीं बीजेपी ने अपने प्रदेश अध्यक्ष व सांसद मनोज तिवारी पर भरोसा जताया है। इस बार मुकाबला त्रिकोणीय माना जा रहा है लेकिन अगर कड़ी टक्कर की बात करें तो मनोज तिवारी और शीला दीक्षित में कांटे की टक्कर देखने को मिलने की उम्मीद हैं।

उत्तर पूर्वी दिल्ली के कवि खजानचंद क्वेटा डीएवी स्कूल में आज सुबह से मतदान चालु हो गया लेकिन मतदाताओं की चाल यहां पर सुस्त देखने को मिली। बहुत ही काम संख्या में यहां पर मतदाता पहुंचे। वहीं 9 बजे शीला दीक्षित मतदान केंद्र पर पहुंची। हालंकि उस समय विवाद की स्थिति पैदा हो गई जब शीला दीक्षित अपनी गाडी में बैठकर मतदान केंद्र के अंदर पहुंची।

इस पर वहां मौजूद मतदाताओं ने वहाँ पर हंगामा खड़ा कर दिया। हालांकि उसके बाद  मतदान केंद्र पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने लोगों को शांत कराया और अन्य बुजुर्गों को भी गाडी से अंदर जाने की अनुमति दी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.