नॉएडा प्राधिकरण के नए कचरा निस्तारण आदेश पर विभिन्न संगठनों में रोष, जाने क्या बोले सेक्टरों के पदाधिकारी :

310

PHOTO.VIDWEO.STORY-JITENDER PAL-TEN NEWS

नोएडा प्राधिकरण पिछले काफी सालो से डोर टू डोर गारबेज कलेक्शन की बात कर रहा है मगर अभी तक इस समस्या का कोई भी समाधान नही हो पाया है जिसकी वजह से नोएडा के सभी सेक्टरों में कचरे की गंदगी ऐसी ही बनी हुई है जिसके कारण कई भयंकर बीमारिया भी फैल रही है। लेकिन नोएडा प्राधिकरण ने अब नियमों का हवाला देते हुए सभी सेक्टर-आरडब्लूए को एक फरमान जारी कर दिया है जिससे नोएडा के सभी आरडब्लूए आश्चर्यचकित है ।
17 नवंबर को जारी किये गए इस आदेश में कहा गया है की सभी गेटेड रिहायशी इलाकों, आरडब्लूए तथा मार्किट एसोसिएशंस को अपने इलाके में पैदा हो रहे सूखे और गीले कूड़े का निपटारा स्वयं ही करना होगा। इस विषय में आज हमने विभिन्न सेक्टर की संस्थाओं के पदाधिकारियों से बात की।

सेक्टर 62 रजत विहार के अध्यक्ष सुखदेव शर्मा ने कहा नोएडा प्राधिकरण को इस फरमान को जारी करने से पहले गारबेज कलेक्शन की डोर टू डोर प्रणाली तथा अन्य तथ्यों से सभी आरडब्लूए के लोगो को जागरूक करना चाहिए था । किस तरह के कचरे को कैसे गारबेज में डालना है, लोगों से कैसे सहयोग लेना यही इत्यादि । फिर उसके बाद इस योजना को लागू करते । लेकिन नोएडा प्राधिकरण ने इस योजना को आरडब्लूए के ऊपर डालकर अपनी जिम्मेदारी से भागने का काम किया है । साथ ही और इस योजना में आरडब्लूए के लोगो पर एक लाख का जुर्माना और सात साल की सजा का नियम बनाया है जो काफी गलत है । अगर नोएडा प्रधिकरण इतना ही ईमानदार है तो विभाग के अंदर जो अधिकारी बैठकर ठेकेदार को कमीशन लेकर टेंडर पास करते है और उनके कामो में काफी कमी पाई जाती है मगर उनपर कोई करवाई नही होती है। ये जुर्माना और सजा इन पर भी लागू की जाए ।

Loading...

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.