रोशन तनेजा स्कूल ऑफ़ एक्टिंग के निदेशक रोहित तनेजा ने साझा की अपनी सफल यात्रा, टेन न्यूज की खास पेशकश

Ten News Network

0 88

नई दिल्ली :– सहायक निदेशक के रूप में अपना करियर शुरू करने वाले रोहित तनेजा ने सिनेमा जगत में बहुत संघर्ष किया है। जिसके बाद आज वे जाने माने रोशन तनेजा स्कूल ऑफ़ एक्टिंग के निदेशक है। उस महान हस्ती ने टेन न्यूज़ नेटवर्क के कार्यक्रम “सिनेमा शो” में हिस्सा लिया। इस कार्यक्रम का संचालन सदी के महानायक अभिनेता अमिताभ बच्चन के सबसे बड़े फैन विनीत चौधरी ने किया। जिसमे निदेशक रोहित तनेजा ने अपने जीवन के अहम किस्से साझा किए।

रोशन तनेजा स्कूल ऑफ़ एक्टिंग के निदेशक रोहित तनेजा ने निर्देशक सुभाष घई के साथ सहायक निर्देशक के रूप में अपना करियर शुरू किया। वह फिल्म “कर्मा ” के साथ शुरुआत किया और फिर “राम लखन” समेत अन्य फिल्मों के लिए एसोसिएट डायरेक्टर के तौर पर काम किया।

आपको बता दे कि फिल्म जगत में एक्टिंग गुरु के नाम से अपनी पहचान बनाने वाले रोशन तनेजा के बेटे रोहित तनेजा है। रोशन तनेजा के एक्टिंग स्कूल से बहुत से लोग अभिनेता के रूप में आज फ़िल्म इंडस्ट्री में काम कर रहे है। खासबात यह है कि संजय दत्त , आमिर खान, अनिल कपूर , अभिषेक बच्चन , जया बच्चन , गोविंदा , सेफ अली खान समेत अन्य अभिनेताओं ने स्कूल ऑफ एक्टिंग में आकर रोशन तनेजा से सीखा।

आज हमारे देश में संजय दत्त , अनिल कपूर , गोविंदा , मिथुन चक्रवती , चिंकी पांडेय , अभिषेक बच्चन , जया बच्चन , रानी मुखर्जी , माधुरी दीक्षित , रणवीर कपूर समेत अन्य दिग्गजों ने रोशन तनेजा स्कूल ऑफ़ एक्टिंग का नाम रोशन कर चुके है।

रोहित तनेजा ने कहा कि दिल्ली से मेरा पुराना नाता रहा है, मेरी पढ़ाई दिल्ली में हुई है, सर्दी में दिल्ली आता रहता हूँ । मेरी वाइफ भी दिल्ली की रहने वाली है । खासबात यह है कि दिल्ली की याद बहुत आती है। जब भी मौसम ठंड का हो जाता है तभी में दिल्ली का रुख कर लेता हूँ।

रोहित तनेजा ने अपने पिता के द्वारा दी गई मेथड एक्टिंग के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि मेथड एक्टिंग का मतलब होता है “यकीन”, जो आपका किरदार है उसपर आप यकीन करें तो आपका किरदार अच्छा निकलकर आएगा। इसलिए किरदार निभाने से पहले आप अपने ऊपर यकीन करके चले की आप इस किरदार को निभा सकेंगे।

उन्होंने कहा कि एक्टर होना और एक्टिंग सीखने में बहुत अंतर है, एक्टिंग सिखाई नही जा सकती। हाँ एक्टिंग सीखी जा सकती है। हम सबके के अंदर एक्टर छिपा हुआ है। आपके अंदर इमोशन छुपे होते है , आप उसको पहचानो , उसको बाहर निकालो।

रोहित तनेजा ने कहा कि मैने 20 साल इंडस्ट्री में काम किया। निर्देशक होने के बाबजूद भी मैने अपने पिताजी की क्लास जॉइन की। 5 साल तक मैने क्लासेज ली , जिसके बाद मैं आज बहुत से बच्चों को एक्टिंग की क्लास दे रहा हूँ।

उन्होंने कहा कि निर्देशक सुभाष घई के साथ मेरे कैरियर की शुरुआत हुई। फ़िल्म कर्मा में मैने काम किया। 8वे नंबर का अस्सिटेंट पर काम किया। जब कैमरामेन कहता था कि लाइटिंग पूरी कंपलीट हो गई है तो मुझे सिर्फ आर्टिस्ट से जाकर यह कहना है था कि सर आपका शॉट रेडी है, उस समय मुझे 20 रुपये कन्वेंस के लिए मिलते थे।

निदेशक रोहित तनेजा ने कहा कि अभिनेता अनिल कुमार बहुत मेहनती अभिनेता है उनकी एक्टिंग मुझे बहुत पसंद आती है। उनकी दो फिल्में मुझे आज तक बढ़िया लगती है , ” कर्मा ” और “राम लखन”। जिसमे उन्होंने अपना बहुत बढ़िया किरदार निभाया है।

रणवीर कपूर ने बहुत ही कम समय मे जल्दी एक्टिंग सीख कर आज बहुत सी फिल्मों में किरदार निभा रहे । गोविंदा की बात करे तो मुकाम हासिल करने के लिए उन्होंने बहुत मेहनत की है । जब गोविंदा एक्टिंग सीखने हमारे रोशन तनेजा स्कूल ऑफ एक्टिंग में आए , तो हमारे पिताजी ने गोविंदा से फीस नही माँगी , क्योंकि उस समय गोविंदा आर्थिक समस्या से गुजर रहे थे।

रोहित तनेजा ने कहा कि हमारे पिता रोशन तनेजा रानी मुखर्जी की जमकर तारीफ करते थे। जिसको हमने देखा है कि कम समय में अभिनेत्री रानी मुखर्जी ने जबरदस्त एक्टिंग करके बहुत सी फिल्म को हिट बनाया है , इसलिए हमारे पिताजी कहते थे कि रानी मुखर्जी बहुत ही जल्दी अभिनेत्री बनेगी , जो सिद्ध भी हुआ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.