नोएडा-ग्रेटर नोएडा वेस्ट मैट्रो के लिए तीसरी बार जारी किया जाएगा टेंडर

ABHISHEK SHARMA

0 76

नोएडा-ग्रेटर नोएडा वेस्ट के बीच शुरू होने वाली मेट्रो के काम लिए दूसरी बार खोले गए टेंडर में सिर्फ दो कंपनियां आई हैं। ऐसे में तीसरी बार भी टेंडर जारी किए जाने की तैयारी है। इस लाइन पर मेट्रो के निर्माण के लिए सिविल का काम शुरू होना है।

काम शुरू करने के लिए मई महीने में टेंडर जारी किए गए थे। पहले टेंडर में तीन कंपनियां आईं थीं। कागजातों में कमी मिलने पर अक्तूबर में शर्तों में बदलाव कर दोबारा से टेंडर जारी किए गए।

अभी शहर में जो स्टेशन बने हैं वह प्रथम तल पर बने हैं और दूसरे तल पर फ्लेटफॉर्म। इन स्टेशनों का स्ट्रक्चर इतना मजबूत नहीं है कि इसके ऊपर और कोई तल बनाया जा सके। अब एनएमआरसी ने दूसरी बार अक्तूबर में जो टेंडर जारी किए उसके तहत प्रथम, द्वितीय, तृतीय और चतुर्थ तक तक निर्माण किया जा सकता है।

हालांकि अक्तूबर में जारी टेंडर के तहत कंपनी को सिर्फ द्वितीय तल ही निर्माण करना होगा। इसके ऊपर के दो तल का निर्माण बीओटी आधार पर कराया जाएगा।

जो इसका निर्माण करेगा, वहीं इसका संचालन करेगा। वह इन दो तल पर बनने वाले दुकानें, बैक्वेंट हॉल आदि के जरिए कमाई कर सकेगा। अब खोले गए टेंडर में सिर्फ दो कंपनियां ही आई हैं। ऐसे में अब दोबारा से टेंडर जारी करने को लेकर सोमवार को अधिकारियों के बीच बैठक होगी। इसको देखते हुए मार्च 2021 तक काम शुरू होने की उम्मीद है।

अधिकारियों ने बताया कि यह अभी नोएडा-ग्रेनो के बीच चल रही एक्वा लाइन का एक्सटेंशन रूट है। जिस रूट पर मेट्रो चल रही है, वह करीब 29 किलोमीटर लंबी है। अब नए ग्रेनो वेस्ट के रूट पर भी मेट्रो चलने से इसका दायरा बढ़ जाएगा।

इस लाइन के लिए यूपी केबिनेट ने 3 दिसंबर 2019 को मंजूरी दी थी। उम्मीद थी कि इस लाइन का काम फरवरी-मार्च तक शुरू हो जाएगा। लेकिन शुरूआत में कुछ वजह और फिर कोरोना वायरस के कारण आ जाने से काम शुरू नहीं हो सका।

Leave A Reply

Your email address will not be published.