20 फरवरी से दिल्ली में शुरू होगा भारतीय छात्र संसद का 10वां एडिशन, वेंकैया नायडू समेत कई दिग्गज हस्तियां होंगी शामिल

ROHIT SHARMA

0 562

नई दिल्ली के विज्ञानं भवन में 20 फरवरी से लेकर 23 फरवरी तक भारतीय छात्र संसद के 10वें एडिशन का आयोजन होने जा रहा है | जिसको लेकर आज दिल्ली के कंस्टीटूशन क्लब ऑफ़ इंडिया ,में प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया |

एनआइटी स्कूल ऑफ़ गवर्नमेंट के संस्थापक विश्वनाथ दी करद ने प्रेस वार्ता करते हुए इस आयोजन के बारे में जानकारी दी | उन्होंने कहा की  देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू आगामी 20 फरवरी को दिल्ली राजधानी के विज्ञान भवन में आयोजित ‘भारतीय छात्र संसद’ के 10वें एडिशन का उद्धाटन करेंगे।

साथ ही उन्होंने बताया की भारतीय छात्र संसद फाउंडेशन, एमआईटी स्कूल ऑफ गवर्नमेंट और एमआईटी वर्ल्ड पीस यूनिवर्सिटी (पुणे) की ओर से यह 3 दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा जो 20 से 23 फरवरी तक होगा।

उन्होंने बताया कि तीन दिनों तक चलने वाले छात्र संसद में उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू, केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी, खेल एवं युवा केंद्रीय राज्यमंत्री किरण रिजीजू, महाराष्ट्र में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस, योग गुरु बाबा राम देव, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के नेता प्रकाश करात, फिक्की की पूर्व प्रेसिडेंट नैना लाल किदवई, कार्पोरेट गुरु, लेखक शिव खेरा, कारोबारी निरंजन हीरानंदानी जैसे लोग शामिल होंगे।

 

इस मौके पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार, महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस, लोकसभा के पूर्व सभापति शिवराज पाटिल भी मौजूद रहेंगे। कार्यक्रम में नोबल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी मुख्य अतिथि रहेंगे।

केरल विधानसभा के अध्यक्ष पी. रामकृष्णन को आदर्श विधानसभा अध्यक्ष तथा पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह को आदर्श मुख्यमंत्री के पुरस्कार से नवाजा जाएगा। इस कार्यक्रम के समापन में पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न से सम्मानित प्रणव मुखर्जी मौजूद रहेंगे।

तीन दिन तक आठ सत्रों में होने वाले इस कार्यक्रम में देश के अलग-अलग 200 विश्वविद्यालयों के करीब 10 हजार छात्रों के शामिल होने की उम्मीद है। इसके अलावा 8 राज्यों के विधानसभा अध्यक्षों तक 8 अलग-अलग विश्वविद्यालयों के कुलपति शामिल होंगे।

इसमें अलग-अलग विषयों के आठ सत्र आयोजित होंगे। जिसमें ‘जातिवाद, आतंकवाद और उग्रवाद का मुकाबला कैसे करें’, ‘पांच ट्रिलियन अर्थव्यवस्था’, ‘बीते सात दशक में भारत की तस्वीर’ सहित कई विषयों पर चर्चा होगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.