कानून बना बना कर सरकार ने फाइनेंशियल सिस्टम को किया खराब , टेन न्यूज़ नेटवर्क के कार्यक्रम में बोले उद्योगपति विजय गोवर्धनदास कलंत्री

Rohit Sharma

0 198

नई दिल्ली :– देश मे कोरोना का कहर जारी है , जिसकी वजह से आज के समय मे करोडों लोग बेरोजगार हो गए है , उद्योग बन्द हो चुके है । केंद्र सरकार का दावा है कि लोगों को रोजगार मिल रहा है , लेकिन हकीकत कुछ ओर है । आपको बता दें की लॉकडाउन की वजह से व्यापार पर व्यापक असर पड़ा है

वही इस मामले में आज टेन न्यूज़ नेटवर्क ने “व्यापार की बात एस के जैन के साथ” कार्यक्रम के माध्यम से “कोरोना काल मे इंफ्रास्ट्रक्चर विकास में चुनोतियाँ विषय पर परिचर्चा की गयी है। इस कार्यक्रम में ऑल इंडिया इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष विजय कलंत्री मुख्य अतिथि के रूप में शामिल रहे । वही इस कार्यक्रम संचालन कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के संयोजक सुशील कुमार जैन ने किया

 

आपको बता दें कि की सुशील कुमार जैन नोएडा की बहुत प्रसिद्ध मार्किट के एसोसिएशन के पदाधिकारी है , साथ ही समाजसेवक भी है । वही इस कार्यक्रम में बहुत ही मशहूर शिक्षाविद डॉ रुद्रेश पांडेय शामिल रहे ,जिन्होंने दिल्ली एनसीआर के मशहूर संस्थाओं में बच्चों को शिक्षा दी , आज भी गाज़ियाबाद के मशहूर एबीईएस संस्थान में प्रोफेसर पद पर तैनात है ,साथ ही उन्हें 2019 में राष्ट्रीय शिक्षक महासंघ द्वारा शिक्षक सम्मान से नवाजा गया है

 

इस लॉकडाउन में टेन न्यूज़ नेटवर्क वेबिनार के माध्यम से लोगों को जागरूक कर रहा है , साथ ही लोगों के मन में चल रहे सवालों के जवाब विशेषज्ञों द्वारा दिए जा रहे हैं। आपको बता दे कि टेन न्यूज़ नेटवर्क ने “व्यापार की बात एस के जैन के साथ” कार्यक्रम शुरू किया है , जो टेन न्यूज़ नेटवर्क के यूट्यूब और फेसबुक पर लाइव किया जाता है

 

आपको बता दें कि विजय गोवर्धनदास कलंत्री एक भारतीय उद्योगपति हैं। वह बालाजी इंफ्रा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड और दिघी पोर्ट लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं। वह ऑल इंडिया एसोसिएशन ऑफ़ इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष, वर्ल्ड ट्रेड सेंटर, मुंबई के वाइस चेयरमैन हैं और इंटरनेशनल न्यूयॉर्क सिटी के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर एसोसिएशन के निदेशक हैं। वही इस कार्यक्रम में संचालन सुशील कुमार जैन ने बहुत ही बड़े उद्योगपति विजय गोवर्धनदास कलंत्री से पश्न किए , जिसका जवाब विजय गोवर्धनदास कलंत्री द्वारा दिया गया

उद्योगपति विजय गोवर्धनदास कलंत्री ने कहा कि जिंदगी एक संघर्ष है और आदमी इस संघर्ष में जितनी मेहनत और लगन से काम करें वो सफलता की तरफ बढ़ता चला जाता है ।

मैंने बचपन से ही संघर्ष शुरू किया , क्योंकि कम उम्र में मैंने अपने परिवार को खो दिया था । जिसके बाद मैंने बहुत संघर्ष किया, हम टेक्सटाइल मशीनरी , टेक्सटाइल इक्विपमेंट समेत बहुत सी चीजों का बिजनेस करते थे , हमारी टेक्सटाइल फाइबर की कंपनी थी, वूलन मिल थी जिसमें हमने बहुत काम किया। बहुत सालों पहले मुंबई में वूलन मिल बंद हुई थी , जिसकी वजह से मुझे बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ा था ।

उसके बाद हमने सोचा कि मुझे इंफ्रास्ट्रक्चर की तरफ जाना चाहिए , जिसके बाद मैंने महाराष्ट्र में दिघी पोर्ट लिमिटेड कंपनी खोली , जिसकी वजह से आज मैं इस मुकाम पर पहुंच पाया हूं

उन्होंने कहा कि मुझे एमएसएमई के लिए काम करने का बहुत शौक रहा है , सरकार की तरफ से प्रतिनिधि बनकर बहुत बड़े बड़े कार्यक्रम में हिस्सा लिया है । जहाँ मेने बहुत कुछ सीखा है । साथ ही जीवन मे जो भी मिलता है उससे सन्तुष्ट होना चाहिए ।

उन्होंने कहा कि किसी भी चीज का एन्ड नही होता है न पैसे का एन्ड होता है , न ही सफलता का एन्ड होता है । लोग सच्ची मेहनत और लगन से काम करे तो वो पैसे भी कमायेगा , साथ ही सफ़लता भी उसके पैर को छुएगी ।

विजय गोवर्धनदास कलंत्री ने कहा कि लॉकडाउन का व्यापार पर व्यापक असर पड़ा है। करीब 2500 कारखाने बंद हो गए हैं। कारखानों में काम करने वाले मजदूरों के सामने रोटी का संकट भी खड़ा हो गया है।

उन्होंने कहा कि आज भी मजदूरों को काम नही मिल रहा है , लेकिन मोदी सरकार ने लगातार इस पर ध्यान दिया , धीरे धीरे अर्थव्यवस्था सुधरेगी । साथ ही व्यापारियों के व्यापार में तेज गति आएगी

https://m.facebook.com/tennews.in/videos/613534905833376/

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन से एक फायदा जरूर है वो है अपनी फैमिली को टाइम देना , ऐसा समय होता था कि व्यापार को खड़ा करने में रात दिन मेहनत करनी पड़ती थी , जिसकी वजह से अपने परिवार को समय नही दिया जाता था , लेकिन लॉकडाउन की वजह से परिवार के साथ समय बिताने का मौका मिला ।

जिनको लॉकडाउन में सबसे ज्यादा दिक्कतें आई है वो है दिहाड़ी और प्रवासी मजदूर हैं । इन सब की दिक्कत आपने भी देखी होंगी मैंने भी देखी है । आज भी एंटरटेनमेंट वर्ल्ड को दिक्कतें आ रही हैं , साथ ही इनसे जुड़े लोगों को आज भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है ।

करोड़ों आदमी इससे प्रभावित है जो गवर्नमेंट की पॉलिसी है गवर्नमेंट ने बहुत कुछ किया है मगर और कुछ ज्यादा कर सकती थी । प्रैक्टिकल एप्रोच बहुत जरूरी है , ब्यूरोक्रेटिक एप्रोच तो है , लेकिन प्रैक्टिकल एप्रोच भी बहुत होनी चाहिए ।

हम रूल्स और कानून बहुत बनाते हैं , 2012 से कानून बना बना कर फाइनेंसियल सिस्टम खराब कर दिया है।

उन्होंने कहा कि हमारे देश के वित्तमंत्री वकील रहे है , पहले अरुण जेटली और अब निर्मला सीतारमण है । उन्होंने इतने कानून बना दिए है जिसकी वजह से फाइनेंसियल सिस्टम खराब हुआ है। एक आदमी को बिज़नेसमेन बनाना बहुत मुश्किल काम है , लेकिन एक बिजनेसमैन को जेल भेजना बहुत आसान काम है ।

उद्योगपति विजय कलंत्री का कहना है कि इस सरकार ने उद्योग के लिए कुछ खास काम नही किया है , साथ ही उन्होंने कहा कि आज के समय मे सरकार सिर्फ हवा में बात कर रही है , उद्यमियों के लिए जो योजना है उसे धरातल पर नही लाया गया है ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.