आर्थिक सर्वे करने पहुंचे कर्मचारी को ग्रामीणों ने NRC रजिस्ट्रेशन करने वाला समझकर पीटा

ABHISHEK SHARMA

0 368

Greater Noida : नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्श (NRC) को लेकर सरकार बार-बार रुख साफ कर चुकी है कि इसको लेकर अभी कोई फैसला नहीं किया गया है, लेकिन अफवाह थम नहीं रहे हैं। यूपी के ग्रेटर नोएडा में में आर्थिक-सामाजिक डेटा के आंकड़े जुटाने गए एक कर्मचारी पर लोगों ने इसलिए पीट दिया क्योंकि उन्हें लगा कि वह NRC के रजिस्ट्रेशन के लिए आया है।

ग्रेटर नोएडा में जारचा के छौलस गांव में एक कर्मचारी आर्थिक आंकड़े जुटाने के लिए पहुंचा था। वह गांव में पहुंचा ही था कि वहां NRC टीम के पहुंचने की अफवाह फैल गई। कुछ लोगों ने उस पर हमला कर दिया और बुरी तरह घायल कर दिया।

पीड़ित कर्मचारी ने मकान मालिक समेत गांव के 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ जारचा कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई। उसने शिकायत में कहा है कि लोगों ने उसे NRC के लिए सर्वे करने वाला समझकर पीटा। किसी तरह वह वहां से भागने में कामयाब रहा।

गौरतलब है कि संशोधित नागरिकता कानून (CAA) को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच कुछ लोग NRC को लेकर भी सशंकित हैं। हाल ही में सरकार ने संसद में कहा है कि इस संबंध में अभी तक कोई फैसला नहीं लिया गया है। पीएम नरेंद्र मोदी भी कह चुके हैं कि इस मुद्दे पर सरकार में कोई चर्चा नहीं हुई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.