‘बिना सुई-धागा’ भीे बनाए जा सकते है कपडे, बताया कॉलेज छात्रो ने ।

0 475

साउथ दिल्ली पॉलिटेक्निक फॉर वीमेन के छात्र डिजाइनर 23 मार्च को होने वाले कॉलेज के वार्षिक आयोजन में एक दिलचस्प बनावट और डिजाइन को प्रदर्शित करने वाले है जिसमे  “अनस्टिचड क्लोथ्स” यानी “बिना सिला कपड़ो” का प्रयोग किया जएगा।

यह अनूठी थीम “बिना सुई दागा” के पीछे का विचार पूर्व-मौजूदा कपड़ों के पैटर्न पर प्रयोग करना था और यह चुनौती कॉलेज के छात्रों के समूह द्वारा ली गई जो इस अनस्टिचड और बिना सिला कपड़ों की अवधारणा के साथ आये जो कि नवीन, ग्लैमरस, स्टाइलिश है और पश्चिमी संस्कृति में प्रवृत्ति का हिस्सा बन रहे हैं।

इन अनस्टिचड कपड़ो को काफी तकनीकियों से डिज़ाइन किया गया है जैसे मैटिंग, ब्रेडिंग, ट्विलिंग आदि कपड़ों को रोचक बनावट देने और डिजाइन प्रदान करने के लिए। कट टुकड़ों में ब्रेडिंग एक तरह से धारियों को ऐसे तरीके से जोड़ती है जिससे वे एक दूसरे को पार करते हैं और विकर्ण संरचना में एक साथ रखे जाते हैं । इस तरह के तरीके कपड़ो को रोमांचक डिजाइन प्रदान करते हैं और एक नई प्रवृत्ति को जन्म देते हैं, जिसमे कपड़ेपिन का इस्तेमाल होता हैं, जो उन्हें विभिन्न आयाम देने के लिए कपड़ो को लटकाती है।

ये छात्र अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन शो में उपस्थित काफी प्रमुख लोगों के सामने करेंगे जैसे शेरोन लोवेन, सोनिया जेटली, वेंडी मेहरा, रश्मी सचदेव, रमोला बच्चन, अनु सिक्का, मिथुन सेन, समित दास, अलका रघुवंशी, नूपुर कुंडू, सुदीप रॉय, उमा नायर और अरुणा भोमिक।

यह विचार वास्तव में छात्र डिजाइनर के लिए एक चुनौती थी जिसका उन्होंने बखूबी सामना किया और आकर्षक डिजाइनों का निर्माण किया जो कि प्रशंसा के योग्य है ।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.