भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री मुख्तार अब्बास नकवी द्वारा जारी प्रेस वक्तव्य.

162

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि “अपनी डिफीट से डरे लोग मोदी के डेवलपेन्ट एजेण्डे पर डर का पलीता“ लगा रहे हैं।
श्री नकवी ने शहीद हसन खां मेवाती के शहीदी दिवस के अवसर पर आयोजित जनसभा को सम्बाोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस और उनके कुछ “सेकुलर सूरमाओं“ ने वर्षो “साम्प्रदायिकता एवं धर्मनिरपेक्ष की अफीम“ पिला कर मुसलमान वोटों का जमकर राजनैतिक शोषण किया और उनके आर्थिक, सामाजिक, शैक्षिणक सरोकार को जानबूझकर अनदेखा किया।
श्री नकवी ने कहा कि कांग्रेस ने मुसलमानों के साथ “सेकुलर क्रिमिनल, क्राईम“ किया है और आज भी मोदी और भाजपा का डर पैदा कर फिर उसी चाल को दोहराया जा रहा है, जिसने भारतीय मुसलमानों को प्रगति की मुख्यधारा से कोसों दूर रखने के सफर को जारी रखा जा सके। किया। “भाजपा सबका साथ सबका विकास“ के संकल्प के साथ समाज के सभी वर्गो की तरक्की और तालीम की गारन्टी है।
श्री नकवी ने कहा कि देश में चल रही बदलाव की खुशनुमा हवा में जहर घोलने के लिए कांग्रेस ने कुछ प्यादों और मोहरों को मैदान में छोड़ रखा है, वह कांग्रेस की लिखी पटकथा पर समाज में विखराव और टकराव का माहौल पैदा कर रहे है।
श्री नकवी ने मुसलमानों से अपील की है कि वह भाजपा और श्री नरेन्द्र मोदी को हमारे राजनैतिक विरोधियों के चश्में से नहीं अपनी निगाहों से देखेें और जांचेगें-परखेगें तो भाजपा उनकी कसौटी पर खरी उतरेगी और कांग्रेस के कुशासन को कंधा लगा रहे शैतानी साजिशों में शामिल लोग बेनकाब दिखेंगें।
श्री नकवी ने कहा जिस तरह से मुसलमानों विशेषकर मेवाती समाज ने देश को आजाद कराने के लिए अंग्रेजों से जंग की थी, विदेशियों को खदेड़ा था, उसी तरह देश में चल रही कांगे्रस के करप्शन-कुशासन के खिलाफ क्रान्ति में हिस्सेदारी करे और श्री नरेन्द्र मोदी के सुशासन संग्राम की विजय पताका अपने हाथ में लें।
श्री नकवी ने कहा कि कांग्रेस के कुशासन की गुलामी से स्वतंत्र होने का ऐतिहासिक मौका है, कांगे्रस या उसके मोहरे के रुप में सक्रिय ताकतों के बहकावे में किसी भी प्रकार से नहीं आना चाहिए, लोकसभा चुनाव में कुछ ताकतें खतरनाक मानसिकता के साथ चुनावी माहौल को साम्प्रदायिक रंग देने में लगी है।
श्री नकवी ने कहा कि आज भारतीय मुसलमानों के बीच श्री नरेन्द्र मोदी “डर का नहीं डेवलेपमेन्ट“ का चेहरा बनकर उभरे है।

Comments are closed.