कोरोना का कहर : दिल्ली में संक्रमित पांच डॉक्टर समेत 20 स्वस्थ्यकर्मियों की मौत , पढ़े पूरी खबर

Rohit Sharma

0 176

नई दिल्ली :– राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण से अभी तक पांच डॉक्टरों समेत 20 स्वस्थ्यकर्मियों की मौत हो चुकी है। वहीं 1800 से अधिक स्वस्थ्यकर्मी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। राजधानी में सबसे अधिक दिल्ली स्थित एम्स के कर्मचारियों ने कोरोना संक्रमण की वजह से जान गंवा दी है।

दिल्ली में अभी तक पांच डॉक्टरों की कोरोना संक्रमण की वजह से मौत हो चुकी है। इनमें लोकनायक अस्पताल में एनेस्थेसिया विभाग के वरिष्ठ डॉक्टर असीम गुप्ता भी शामिल हैं। इससे एक सप्ताह पहले ओखला स्थित फोर्टिस एस्कॉर्ट अस्पताल के डॉक्टर यासिर की कोरोना संक्रमण की वजह से जान चली गई थी। वह 49 साल के थे और पहले से ही मधुमेह से पीड़ित थे।

इससे एक दिन पहले मुनिरका स्थित नेशनल हेल्थ सिस्टम रिसोर्स केंद्र में काम करने वाले उड़ीसा के डॉक्टर अश्विनी प्रताप की भी दिल्ली के राजीव गांधी सुपरस्पेशलिटी अस्पताल में मौत हो गई थी। सबसे पहले सीताराम भारतीय अस्पताल में काम करने वाले बुजुर्ग डॉक्टर जितेंद्र नाथ पांडे की भी घर में ही कोरोना संक्रमण से मौत हो गयी थी। वह एम्स में भी मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष के रूप में तैनात रहे थे। इसके अलावा ढिचाऊं कलां के मोहल्ला क्लिनिक में तैनात डॉक्टर की कोरोना से मौत हो चुकी है।

एम्स में अभी तक सबसे अधिक 769 कर्मचारी कोरोना संक्रमण से पीड़ित हो चुके हैं। इनमें से पांच कर्मचारियों की कोरोना संक्रमण से मौत भी हो चुकी है। एम्स के कर्मचारियों और उनके परिजनों को मिलाकर अभी तक 1500 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं।

केंद्र सरकार के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में 162 कर्मचारी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं और इनमें से तीन कर्मचारियों की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई है। इनमें लैब में काम करने वाले कर्मचारी भी शामिल हैं। अस्पताल की ओर से जान गंवाने वाले कोरोना योद्धाओं के लिये शोक सभा का भी आयोजन किया गया है।

दिल्ली के सबसे बड़े कोरोना अस्पताल लोकनायक में अभी तक 82 स्वस्थ्यकर्मी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर सुरेश के मुताबिक इनमें से एनेस्थेसिया विभाग के दो कर्मचारियों की मौत भी हो गयी है। इनमें एक डॉक्टर और एक तकनीशियन शामिल हैं।

उत्तरी निगम के हिंदूराव अस्पताल में अब्जी तक 60 कर्मचारी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं और इनमें से दो कर्मचारियों की मौत भी हो चुकी है। हिंदूराव में रविवार को वार्ड बॉय ने कोरोना से दम तोड़ दिया। इससे पहले पैथोलॉजी लैब के एक कर्मी की मौत हो गयी थी।

कालरा अस्पताल में काम करने वाली केरल की एक नर्स की भी सफदरजंग में इलाज के दौरान मौत हो गयी। इसके अलावा एक आयुर्वेदिक अस्पताल में सैम्पल लेने वाले कर्मी की भी कोरोना संक्रमण के बाद जान चली गयी। वहीं लोकनायक अस्पताल से जुड़े सुश्रुत ट्रामा सेंटर में काम करने वाले एक तकनीशियन की भी कोरोना संक्रमण के बाद मौत हो गयी। दिल्ली के एक निजी अस्पताल में ब्लड बैंक में काम करने वाली महिला कर्मचारी भी कोरोना संक्रमण से जान गंवा बैठी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.