कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी जाने का किया विरोध, बताया पैसों का खेल

Abhishek Sharma /Lokesh Goswami Tennews New Delhi :

0 108

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन कर ली है। भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलवाई। कांग्रेस को जबरदस्त झटका देते हुए पार्टी के प्रमुख युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को पार्टी से त्यागपत्र दे दिया था।

सिंधिया के साथ ही उनके समर्थक पार्टी के 21 विधायकों के इस्तीफे से राज्य की कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। ऐसी अटकले हैं कि सिंधिया को राज्यसभा का टिकट दिया जा सकता है और उन्हें केंद्रीय मंत्री बनाया जा सकता है।

ज्योतिरादित्य के बीजेपी ज्वाइन करने के बाद से ही कांग्रेस के नेता उनके खिलाफ बयान दे रहे हैं। वही ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी ज्वाइन करने के बाद आज इंडियन यूथ कांग्रेस ने अपना विरोध जताया। उन्होंने ज्योतिरादित्य के इस फैसले को खरीद-फरोख्त का खेल करार दिया है।

यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का कहना है कि अमित शाह, जेपी नड्डा और नरेंद्र मोदी ने पैसे देकर ज्योतिरादित्य सिंधिया को अपनी पार्टी में शामिल किया है। उनका कहना है कि अमित शाह ने पैसे एवं राज्यसभा में भेजने का लालच देकर ज्योतिरादित्य सिंधिया को बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कराई है।

कार्यकर्ताओं ने इस कदम को पूरी तरह पैसों की धांधली बताया है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अमित शाह का मुखौटा पहना हुआ व्यक्ति पिंजरे में कैद कर पैसों की माला पहनाकर नारेबाजी की। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने नाटक के माध्यम से ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में जाने से पहले पैसों की डील को दिखाया। उनका कहना है कि बीजेपी पैसे के दम पर विधायकों को खरीद कर अपनी सरकार बनाने में जुटी हुई है।

वहीं, कांग्रेस ने पार्टी विरोधी गतिविधि के कारण पार्टी के महासचिव एवं पूर्ववर्ती ग्वालियर राजघराने के वंशज ज्योतिरादित्य सिंधिया को पार्टी से निष्कासित कर दिया था।
आज भाजपा ज्वाइन करने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि मेरे जीवन में 2 तारीखें बहुत महत्वपूर्ण रही हैं। व्यक्ति के जीवन में कई बार ऐसे मोड़ आते हैं जो व्यक्ति के जीवन को बदल कर रख देते हैं।

मेरे जीवन में पहला दिन 30 सितंबर 2001, जिस दिन मैंने अपने पूज्य पिताजी को खोया। उसी के साथ दूसरी तारीख 10 मार्च 2020 जो उनकी 75वीं वर्षगांठ थी, जहां जीवन में एक नई परिकल्पना और नया एक मोड़ का सामना करके एक नया निर्णय लिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.