सबसे बड़ा खुलासा : दिल्ली हिंसा में जाकिर नाइक का कनेक्शन आया सामने , पढ़े पूरी खबर

ROHIT SHARMA

0 72

नई दिल्ली :– इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाइक, जिसकी जुबान हर वक्त जहर उगलती है और जो धर्म की आड़ में नफरत फैलाने का संदेश देता है. इस देश विरोधी इस्लाम के ठेकेदार जाकिर नाइक भारत में शिकंजा कसने लगा तो तीन साल पहले ही वो भागकर मलेशिया पहुंच गया. लेकिन वहां रहते हुए भी ये भगोड़ा अपने देश के खिलाफ ही साजिश रचने में जुटा हुआ है ।

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध की आड़ में फरवरी के महीने में दिल्ली में जो दंगा भड़का था, उसका कनेक्शन अब सीधे जाकिर नाइक से जुड़ रहा है. इस कनेक्शन का खुलासा खुद दंगे की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने किया है. दिल्ली दंगे के मास्टरमाइंड खालिद सैफी और जाकिर नाइक के बीच का सीधा कनेक्शन भी सामने आया है ।

दिल्ली दंगे को लेकर स्पेशल सेल ने अदालत में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल की है. इस रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि दंगे का आरोपी खालिद सैफी ने जाकिर नाइक से मुलाकात की थी. जाकिर नाइक से मुलाकात करने के लिए खास तौर पर खालिद सैफी मलेशिया गया था. खालिद सैफी के पासपोर्ट को खंगाला गया तो उसके मलेशिया जाने की जानकारी मिली।

खालिद सैफी को पिछले ही महीने बड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने गिरफ्तार किया था. खालिद ही वो शख्स है जिसने पार्षद और आम आदमी पार्टी से निलंबित नेता ताहिर हुसैन की जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद के साथ दिल्ली के शाहीनबाग में मीटिंग करवाई थी, जिसमें दंगे की प्लानिंग बनी थी. खजूरी खास इलाके में ताहिर हुसैन के घर की छत से ही पेट्रोल बम और पत्थर बरसाए गए थे. आईबी अफसर अंकित शर्मा की हत्या में भी ताहिर का नाम आया था और वो अभी जेल में है ।

अब जब मुख्य साजिशकर्ता खालिद सैफी के जाकिर नाइक से मिलने का खुलासा हो गया है तो दंगे की साजिश के तार मलेशिया तक से जुड़ने लगे हैं. खालिद सैफी को लेकर ये भी खुलासा हुआ है कि न सिर्फ उसने साजिश रची बल्कि दंगे के लिए वो फंड का जुगाड़ कर रहा था ।

स्पेशल सेल के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार, दंगे के लिए खालिद सैफी ने फंड जुटाने को लेकर कई देशों को दौरा भी किया था. इतना ही नहीं सैफी इस दौरान मलेशिया भी गया था और उसने भगोड़े जाकिर से मुलाकात भी की थी. जिसके बाद दंगे के लिए विदेश से खालिद को फंडिंग भी मिली थी. इस बात का भी खुलासा हुआ है कि सिंगापुर में रहने वाले एक एनआरआई ने फंड भिजवाया था. ये फंड खालिद के एनजीओ के खाते में ट्रांसफर किया गया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.