दिल्ली सरकार बढ़ते प्रदूषण पर पंजाब और हरियाणा को ठहराया जिम्मेदार, पराली जलाना बताई वजह

ROHIT SHARMA

0 9

नई दिल्ली :– दिल्ली में जिस तरह वायु प्रदूषण कम हो गया है , उसको लेकर आम आदमी पार्टी अपना क्रडिट ले रही है। अक्सर देखा गया है कि दीवाली के त्यौहार के बाद दिल्ली में सबसे ज्यादा वायु प्रदूषण होता है , लेकिन इस बार घटा है ।

 

इस मामले में आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता व विधायक आतिशी ने प्रेस वार्ता करते हुए कहा कि पिछले 2 दिनों में दिल्ली-एनसीआर में स्पष्ट नीले आसमान और बेहतर वायु गुणवत्ता का कारण क्या हुआ है? पंजाब और हरियाणा में खेत की आग में कमी!

 

अक्टूबर-नवंबर में उत्तर भारत में खराब हवा की गुणवत्ता पंजाब और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों की आपराधिक लापरवाही के कारण होती है ।

 

राजधानी में पिछले 2 दिनों से आसमान काफी साफ नजर आ रहा है लंबे समय के बाद दिल्लीवासी साफ हवा में सांस ले पा रहे हैं इसके पीछे एक बड़ी वजह है कि दिल्ली के अंदर जो पराली का धुआं पहुंचता था वह नहीं पहुंच रहा है।

 

आईसीएआर द्वारा जारी हुआ एक आंकड़ा जिसमें पंजाब राज्य के बारे में दिखाया गया है कि पराली की घटनाओं में पिछले 2 दिन में भारी गिरावट हुई है और यही एक बड़ी वजह है कि दिल्ली के अंदर जो सुबह की स्थिति है वह काफी हद तक नहीं देखने को मिल रही थी ।

 

जहां पर एक तरफ वैश्विक महामारी कोरोना अपने प्रचंड रूप में है वहीं दूसरी तरफ पंजाब और हरियाणा के मुख्यमंत्री अपने राज्यों में पराली की घटनाओं पर कोई रोक नहीं कर पा रहे हैं दिल्ली में कोरोनावायरस के बढ़ने के पीछे यही पराली का धुआं भी है ।

 

ऐसे में आम आदमी पार्टी मांग करती है कि सुप्रीम कोर्ट और एयर क्वालिटी कमीशन हरियाणा और पंजाब के मुख्यमंत्रियों के खिलाफ स्वत संज्ञान लेते हुए आपराधिक मुकदमा दायर करें क्योंकि इन दोनों मुख्यमंत्रियों की लापरवाही की वजह से ही दिल्ली में हेल्थ इमरजेंसी जैसी स्थिति पैदा हो गई ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.