बड़ी खबर : बैठक से पहले किसानों ने केंद्र सरकार को दिया आपत्तियों का ड्राफ्ट, सामने रखीं 8 मागें 

ROHIT SHARMA

0 81

नई दिल्ली :– कृषि कानून के मसले पर किसानों का विरोध लगातार चल रहा है , इस आंदोलन को खत्म करने के लिए सरकार की ओर से कोशिशें जारी हैं और इसी कड़ी में अब से कुछ देर में किसान संगठनों और सरकार के बीच फिर बातचीत होगी |

उम्मीद की जा रही है कि एमएसपी पर जो संकट बना हुआ है, वो निपट सकता है | वही किसानों और सरकार के बीच बैठक से पहले कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, अमित शाह से मिलने पहुंचे हैं | दरअसल किसानों ने एक ड्राफ्ट में कुल आठ मांगों को रखा है, जिसपर मंथन हो रहा है , आज की बैठक में कुल 40 किसान संगठन शामिल होंगे |

 

किसानों ने सरकार के सामने जो ड्राफ्ट भेजा है, उसमें इन मुद्दों को उठाया है | जैसे की तीनों कृषि कानून वापस लिए जाएं , वायु प्रदूषण के कानून में बदलाव वापस हो ,बिजली बिल के कानून में बदलाव है, वो गलत है | एमएसपी पर लिखित में भरोसा दे ,  कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग पर किसानों को ऐतराज |

किसानों ने कभी ऐसे बिल की मांग की ही नहीं, तो फिर क्यों लाए गए. ये सिर्फ कारोबारियों का फायदा है | किसान संगठनों की ओर से केंद्र सरकार को आपत्तियों की लिस्ट सौंप दी गई है. किसानों ने कृषि कानून के साथ-साथ वायु गुणवत्ता अध्यादेश और प्रस्तावित बिजली (संशोधन) बिल को लेकर भी आपत्तियां बताई जताई हैं |

किसानों का आंदोलन जारी है और अब किसान संगठनों ने दो टूक कह दिया कि सरकार को ये कानून वापस लेने ही होंगे. दूसरी ओर सरकार भी किसानों की शिकायतें दूर करने के लिए तैयार है, लेकिन कानून पर टस से मस नहीं होना चाहती है. ऐसे में स्थिति गंभीर होती जा रही है, क्योंकि किसानों का कहना है कि अगर उनकी बात नहीं मानी गई तो फिर आंदोलन आक्रामक हो जाएगा |

Leave A Reply

Your email address will not be published.