जानें अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार मेलें में इस साल क्या है खास, प्रगति मैदान से हमारी विशेष रिपोर्ट !

ROHIT SHARMA

0 517

NEW DELHI : नई दिल्ली के प्रगति मैदान में अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला (इंटरनेशनल ट्रेड फेयर) शुरू हो चूका है । प्रगति मैदान में चल रहे अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले का 37वां संस्करण है । आपको बता दे की इस बार व्यापार मेला करीब 53,000 वर्गमीटर क्षेत्र पर ही लगा है । प्रगति मैदान में चल रहे अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला 27 नवंबर तक होगा । हालांकि, इसके पहले चार दिन केवल व्यापारियों के लिए रखे गए थे । व्यापारियों के लिए ये मेला 14 से 17 नवंबर तक रहा था । अब आम जनता के लिए मेला 18 नवंबर से 27 नवंबर तक रहेगा। साथ ही इस अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में 3000 हज़ार कम्पनिया शामिल हुई है | क्योकि अन्य वर्षों के मुकाबले इस साल मेले के लिए जगह काफी कम है | वही अगर विदेशी की बात करे तो इस बार हांगकांग, यूएई, थाईलैंड, श्रीलंका , अफगानिस्तान आदि समेत कई बड़े देश इसमें शामिल हुए लेकिन वही दूसरी तरफ इस अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में पाकिस्तान ने हिस्सा नहीं लिया |

प्रगति मैदान में चल रहे अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में आम जनता के लिए आज पांच दिन पुरे हो चुके है और यहाँ दिन-ब-दिन खरीदारों की भीड़ बढ़ती ही जा रही है | | इस बहुप्रतीक्षित व्यापार मेलें में मौज़ूद एक दर्जन से ज्यादा विदेशी निर्यातकों को लेकर आगंतुकों में ख़ासा उत्साह देखा जा रहा है।

इसके अलावा देश भर के उत्पादक एवम व्यापारियों द्वारा भी विभिन्न प्रदेशों की विशेषताओं को अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले के माध्यम से ग्राहकों के लिए पेश किया जा रहा है। दिल्ली एनसीआर के अलग-अलग जगहों से आए दर्शकों ने अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में लगी प्रदर्शनियो का बढ़ चढ़कर आन्नद लिया |

साथ ही मेला शुरू होने के बाद से ही हॉल नंबर 18 में विदेशी उत्पाद दर्शकों को काफी पसंद आ रहे है । इनमें भी टर्की के झूमर दर्शकों ने खासा पसंद किया। वियतनाम के लकड़ी से बने उत्पाद, थाईलैंड के फूल और किर्गिस्तान की कलपक टोपी को भी दर्शकों ने काफी पसंद किया। 2000 से लेकर 50,000 तक की कीमत वाले टर्की झूमरों को दर्शकों ने काफी पसंद किया।

 

प्रगति मैदान में चल रहे अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में आने वाले आगंतुक अच्छी शॉपिंग के साथ-साथ लज़ीज खाने का भी आनंद उठा रहे हैं। जहाँ बड़े- बुजुर्ग छोले-भठूरे और नार्थ-इंडियन थाली खाते नजर आए वहीँ बच्चों ने सबवे सैंडविचेज़ के साथ-साथ बर्गर का आनंद लिया।

वही इस मेले में ड्राई फ्रूट की बात करे तो अफगान और ईरान के सूखे मेवों ने भी दर्शकों को खूब ललचाया। दोनों देशों के सूखे मेवे दर्शकों ने हाथोंहाथ लिए। अंजीर के अलावा यहां के बदाम, अखरोट, पिस्ता को लोगों ने पसंद किया। ग्राहकों की सुविधा के लिए इनके एक किलोग्राम से लेकर 110 ग्राम तक के पैक बनाए गए हैं।

साथ ही इस मेले में आए दर्शकों का कहना है की इस बार विदेशी उत्पाद में पाकिस्तान ने हिस्सा नहीं लिया क्योकि पाकिस्तान के कपड़े और मसाले काफी मसूर है जिससे थोड़ी बहुत इस मेले में कमी लगी है | वही इस मेले में आए उत्पादक एवम व्यापारियों का कहना है की पहले से मुताबिक इस बार मेले में काफी कम आनंद आ रहा है क्योकि इस आम जनता बहुत कम खरीदारी कर रही है | वही जीएसटी की बात करे तो इस बार उत्पादक एवम व्यापारियों पर काफी असर पड़ा है |

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.