डंपिंग यार्ड का विरोध कर रहे 300 लोगों पर मुकदमा, 26 को न्यायिक हिरासत में भेजा

0 272

नॉएडा : एनजीटी के आदेश पर बनाये जा रहे नॉएडा के सेक्टर 123 में डंपिंग का कल जब निर्माण चल रहा था। तभी वहा के आस-पास के स्थानीय लोगों ने आकर विरोध किया और जब पुलिस ने इन्हे रोकना चाहा तो कथित तौर पर कुछ लोगों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस ने लगभग 47 लोगों को पकड़कर पुलिसलाइन भेज दिया है। और जैसे-तैसे स्थिति को सामान्य किया कर दिया है। इस दौरान मौके पर प्राधिकरण के अधिकारी और भारी संख्या में पुलिस फोर्स मौजूद रही और कार्य जारी रहा।

जैसा कि तस्वीरों से दिख रहा है सड़क पर पड़े ये पत्थर और ईटें साथ ही भारी संख्या में तैनात ये पुलिस फ़ोर्स आपको बता दें, कि ये ग्राउंड में चल रही क्रेन मशीने और मिट्टी ले जाते ये डम्पर यहां नॉएडा प्राधिकरण द्वारा एक 9 हजार स्क्वॉयर मीटर चौड़ा और 5 मीटर गहरा एक कूड़ा निस्तारण के लिए डंपिंग ग्राउंड बनाया जा रहा है। जिसका विरोध यहां कुछ राजनैतिक  दल व् सामाजिक संस्था  के  लोग महीनो से कर रहे है। 

 जिसको लेकर कई प्राधिकरण के अधिकारी भी इस डंपिंग ग्राउंड की विषेशताओं के  बारे में विस्तार से बता चुके है लेकिन कुछ लोग समझने को तैयार नहीं है और इसको यहां से हटाने की मांग पर अड़े हुए है।  

वही जब आज इसका निर्माण कार्य प्राधिकरण द्वारा कराया जा रहा था तभी वहा बड़ी संख्या में लोग पंहुच गए और कार्य को रोकने की कोशिश करने लगे। जब पुलिस वालों ने इन्हे पीछे हटाया तो जमकर पत्थरबाजी की। हालाँकि इस से पत्थरबाजी किसी को कोई चोट नहीं आई।

वही पुलिस अधिकारियों की माने तो स्थानीय लोगों द्वारा किया गया पथराव में कोई हताहत नहीं हुआ है। वही उपद्रव के दौरान पुलिस ने लगभग 47 लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस लाइन भेज दिया है। प्रारंभिक जांच के बाद इनमें से 21 लोगों को बेल पर रिहा कर दिया गया जबकि 26 लोगों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

साथ ही नोएडा प्राधिकरण के स्वछता इंस्पेक्टर योगेश त्यागी की शिकायत पर 300 अज्ञात लोगों के खिलाफ हिंसात्मक विरोध का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

 प्राधिकरण के अधिकारिओं ने बताया कि एनजीटी के आदेश पर हमें अस्थाई रूप से चल रहे नॉएडा सेक्टर 54 में कूड़े निस्तारण क्षेत्र को खत्म कर सेक्टर 123 में इसका इंतजाम करना है। इसी आधार पर हम यहां डम्पिंग ग्राउंड तो नहीं बना रहे हैं। लेकिन 9 हजार स्क्वॉयर मीटर चौड़ा और 5 मीटर गहरा गड्डा बनाया जा रहा है। जिसमें कूड़ा इखट्टा कर निस्तारण के लिए प्रयोग किया जाएगा। और इसको ऐसे रखा जाएगा कि बाहर से दिखाई ही नहीं देगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.