कोरोना महामारी पर प्रधानमंत्री मोदी का राष्ट्र को सन्देश, दस मुख्य बातें |

0 268

पूरा विश्व संकट के दौर से गुजर रहा है दो महीने से भारत की 130 करोड़ की जनता कोरोना वायरस का डट के मुकाबला कर रही ,प्रधानमंत्री ने कोरोना को प्राकर्तिक संकट से बड़ा संकट बताया और प्रथम और द्वितीय विष्व युद्ध से इसकी तुलना करते हुए कहा दोनों विश्व युद्ध में इतने देश प्रभावित नहीं हुए जितने कोरोना से हुए, यह कहकर प्रधानमंत्री जी ने देश को सम्बोधित कीया पेश हैं मुख्य दस अंश

1 कोरोना वायरस को लोग हलके में न लें ये वैश्विक महामारी है एतिहाद जरूर वर्तें

2 हम स्वस्थ हैं तो जगत स्वस्थ हे , मोदी मंत्र।

3. संयमं वर्ते , भीड़ से बचे , फासला बनाकर चलें , घर से बहार निकलने से बचें।

4. मिडिल क्लास , लोअर मिडिल क्लास और लोअर क्लास नौकरी पर न आएं तो उनकी सैलरी न काटें , वो भी आपका परिवार हैं उनका भी परिवार है ।

5. ऑफिस का काम घर से ही करें ,केवल जरूरी सेवाओं वालों को छोड़कर जैसे हॉस्पिटल स्टाफ, सरकारी नौकर, मीडिया कर्मी, रेलवे ,बस, होम डेलिवरी,इत्यादि ।

6 सीनियर सिटीजन घर से बहार बिलकुल न निकलें ।

7 . जनता से, जनता के लिए, और जनता के द्वारा 22 मार्च रविवार को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक “जनता कर्फ्यू” जिसमें अपने घर से कोई बहार नहीं निकलेगा अगर कोई सर्जेरी होनी है तो उसे पोस्टपोंड करवा सकते हों तो करवादें ।

8 . घर का जरूरी सामान इकठ्ठा न करे दूध आदि जरूरी सामान की कोई कमी नहीं होगी।

9. वियापारी वर्ग को कोरोना ने सबसे ज्यादा धक्का पहुंचाया है पूरी दुनिया की अर्थजगत चरमराया हुआ है । भारत के वित्त मंत्रालय ने “COVID-19 ECONOMIC TASK FORCE” बनायी है, जिसका काम आर्थिक मुश्किलों को कम से कम करने का होगा ।

10 इस वैश्विक बीमारी में कोई देश एक दुसरे देश की मदद नहीं कर सकता । हमें इस महामारी से लड़ना है, और मानव जाती को विजयी बनाना है, और भारत को विजयी बनाना है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.