प्रशासन थोडा सहयोग करे तो हम 30 दिन में वायु प्रदुषण कम कर सकते हैं: आर डब्लू ऐ फेडरेशन एवं फ्लेट ओनर फेडरेशन, गाज़ियाबाद 

0 81

13 नवम्बर 2020, जिलाधिकारी कार्यालय , राजनगर गाज़ियाबाद – आज यहाँ आर डब्लू ऐ फेडरेशन एवं फ्लेट ओनर फेडरेशन गाज़ियाबाद का एक प्रतिनिधि मंडल कर्नल तेजेंद्र पाल त्यागी के नेतृत्व में अतिरिक्त जिलाधिकारी ( LA ) श्री कमलेश जी से मिला और उनसे  वायु प्रदूषण पर एक बैठक बुलाने का आग्रह किया | कर्नल त्यागी ने कहा की बढ़ते वायु प्रदूषण का ठीकरा पराली जलाने पर नहीं फोड़ना चाहिए | क्या पराली पहले नहीं जलती थी ? क्या सड़कों पर पहले धूल नहीं उडती थी ? क्या ईंट के भट्टे पहले नहीं चलते थे ? क्या उस समय इतना वायु प्रदुषण था ? वायु  प्रदुषण हुआ है स्थानीय कारणों की वजह से , बेतरतीब विकास की वजह से, लगातार और सब जगह अनाधिकृत निर्माण की वजह से , अनियत्रिय यातायात की वजह से, स्थानीय कूड़े को जलाने की वजह से , नगर निगम द्वारा खुले में कूड़ा डंप करने की वजह से, प्रदुषण नियंत्रण कार्यालयों में बेलगाम भ्रष्टाचार की वजह से ,उद्योगों द्वारा Effluent Treatment Plants न लगाने या लगाये हैं तो न चलाने की वजह से , पर्याप्त पौधा रोपण ना होने की वजह से ,आदि

वायु प्रदूषण एक महामारी बन चूका है | इसे नियंत्रित करने के लिए सब तरफ से कार्यवाही करने की चिल्लाती हुई आवश्यकता है | हमारे सुझाव हैं की — ETP के अक्समात निरिक्षण का अधिकार सिविल सोसाइटी को भी दिया जाना चाहिए , हर बड़े शहर में 300 सीएनजी / इलेक्ट्रिक सिटी बस चलाई जाएँ , बड़े शहरों की मुख्य सड़क पर 5000 सीसीटीवी कैमरे लगाये जाएँ ,  श्मशान घाटों  पर मोक्षदा प्रणाली  को लागू करें , शहरों में प्रति माह  कार फ्री डे मनाया जाये , डंपिंग ग्राउंड के बजाय “सेनेट्री लैंड फिल “ बनाई जाए , ई-कचरे के लिए संग्रह केंद्र स्थापित किये जाए, जुगाड़ और ट्रेक्टर ट्राली पर 3 अम्हिने के लिए अस्थायी प्रतिबन्ध लगे  | यह उन कार्यो के अतिरिक्त हैं  जो प्रशासन पहले से ही कर रहा है |

लाइन पार आर डब्लू ऐ फेडरेशन के अध्यक्ष श्री आर के आर्या , मोह्नगर जोंन की प्रतिनिधि डा मधु सिंह , कविनगर जोंन के प्रतिनिधि श्री विनोद जिंदल ने जिलाधिकारी के नाम में वायु प्रदूषण पर अतिशीघ्र एक बैठक बुलाने का पत्र भी दिया |

Leave A Reply

Your email address will not be published.