फरीदाबाद में दिनांक २८ से ३० नवंबर २०१७ तक जिला स्तरीय गीता जयंती के कार्यक्रम में सनातन संस्था व हिन्दू जनजागृति का सहभाग – श्रीमद्भगवद गीता के संस्कृत श्लोकों विषय में प्रेसेंटेशन !

91

 

फरीदाबाद में हो रहे तीन दिवसीय जिला स्तरीय गीता जयंती के कार्यक्रम में सनातन संस्था की ओर से ग्रंथ प्रर्दशनी व  हिन्दू जनजागृति समिति ने हिन्दू धर्म के बारे में जानकारी देने वाले फ्लेक्स की प्रर्दशनी लगाई।

इसमें केंद्रिय मंत्री श्री कृष्णपाल गुर्जर जी ने भेंट दि व कार्य कि सहराना की।
दिनांक २९.११ १७ को बड़खल की विधायक श्रीमती सीमा त्रिखा व पृथला के विधायक श्री. टेकचंद शर्मा ने भी भेंट दी व कार्य की  सहराना की।
इस गीता जयन्ती महोत्सव 2017 के अन्तर्गत एक सेमिनार का आयोजन किया गया। जिले के अनेक प्रसिद्ध वक्ताओं के साथ सनातन संस्था ने भी इस सेमिनार मे सहभाग लिया । “श्रीमद भगवद गीता तथा संस्कृत का वातावरण पर प्रभाव ” इस विषय पर परात्पर गुरु डा जयन्त आठवले जी का संशोधन पत्र प्रस्तुत किया गया । यह संशोधन पत्र अध्यात्म और आधुनिक विज्ञान का मिश्रण है जिसमे पोली कॉन्ट्रास्ट इंटरन्फेरेंस फोटो ग्राफी के द्वारा सुक्षम स्पन्दनॉ के चित्र निकाले गये । इसमे पाया गया कि संस्कृत भाषा मे लिखे ग्रन्थ मे सर्वाधिक सकारत्मक स्पंदन थे , जबकि संस्कृत से हिन्दी और मराठी भाषा मे  अनुवाद किये शलोकों की सकारत्मकता घट गयी । और अंग्रेजी भाषा मे किया गया अनुवाद नकारात्मक स्पंदन दिखा रहा था।
इस संशोधन का उद्देश्य सहस्त्रों वर्ष पूर्व हमारे ऋषि मुनियों द्वारा हमें संस्कृत भाषा दे कर हमे कृतार्थ करने की बात को सत्यापित करना था । सनातन संस्था द्वारा ऐसे अनेक संशोधन कर विज्ञान के उपकरणो द्वारा हमारी पौराणिक सम्पदा को पुनः प्रतिष्ठित किया जा रहा है ।

You might also like More from author