मेटो परियोजना की चाल हुई धीमी

132

नोएडा से गे्रटर नोएडा के बोड़ाकी तक मेटो रेल को लाने की कवायद धीमी पड़ गई है। मेटो परियोजना को अभी केन्द्रीय शहरी परिवहन विभाग से मंजूरी नहीं मिल सका है, जिससे आगे की कार्रवाई अटकी हुई है। जबकि प्राधिकरण इस परियोजना पर मार्च से काम शुरू करने की येाजना बना रहा है।
नोएडा से ग्रेटर नोएडा मेटो रेल को यूपी कैबिनेट ने पिछले महीने हरी झंडी दे दी थी। परियोजना पर पिछले दो साल से काम तेज करने की खबरें आ रही हैं और प्राधिकरण का कहना है कि इसे लेकर सरकार भी काफी गंभीर है। जनपद के उद्यमियों और नौकरीपेशा लोगों को मेटो के आने का बेसब्री से इंतजार है। इस परियोजना को वर्ष 2017 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। मगर जिस गति से प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है, उससे उम्मीद नहीं है कि तय समय पर प्रोजेक्ट पर काम पूरा हो सकेगा। मेटो परियोजना पर काम शुरू करने से पहले केन्द्रीय परिवहन विभाग से भी एनओसी प्राप्त करनी है। अभी तक यह एनओसी नहीं मिल सकी है। एनओसी मिलने के बाद दिल्ली मेटो रेल काॅरपोरेशन के साथ नए सिरे से अनुबंध किया जाना है। इस अनुबंध के बाद प्रोजेक्ट पर काम शुरू हो सकेगा। प्राधिकरण के चेयरमैन रमा रमन का कहना है कि माच-अप्रैल तक प्रोजेक्ट पर काम शुरू कर दिया जाएगा। उनका कहना है कि केन्द्रीय परिवहन विभाग से एनओसी लेने का प्रयास किया जा रहा है। डीएमआरसी से भी अनुबंध कर लिया जाएगा। उनका कहना है कि डीएमआरसी के साथ तीन सालों से मेटो को लेकर बात चल रही है और काफी कुछ बातें स्पष्ट हो चुकी हैं।

Comments are closed.