21 हजार अलाॅटियों 31 मार्च तक करानी होगी रजिस्ट्री

98

ग्रेटर नोएडा।यमुना विकास प्राधिकरण के 21 हजार भूखंड आवंटियों को 31 मार्च तक रजिस्ट्री कराने का लक्ष्य रखा गया है। प्राधिकरण ने सभी आवंटियों को 31 मार्च तक अपने भूखंडों की रजिस्ट्री कराने की सूचना पहले ही भेज दी है। अगर सभी आवंटियों द्वारा रजिस्ट्री करा ली जाती है, तो उससे निबंधन विभाग को करीब 500 करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त होगा।
यमुना विकास प्राधिकरण द्वारा वर्ष 2009 में 21 हजार भूखंडों का आवंटन किया था। इन भूखंडों की रजिस्ट्री होनी थी, मगर अभी तक सभी आवंटियों ने रजिस्ट्री नहीं कराई है। सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार अभी 50 फीसदी आवंटियों ने ही रजिस्ट्री कराई है। करीब 12 हजार भूखंडों की रजिस्ट्री नहीं हो सकी है। बाकी बची रजिस्ट्री को पूरा करने के लिये 31 मार्च तक लक्ष्य रखा गया। एआईजी स्टाम्प एसएन राय ने बताया कि वित्तीय वर्ष का लक्ष्य पूरा करने के लिए विभाग द्वारा नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना विकास प्राधिकरण को पत्र भेज कर भूखंडों की रजिस्ट्री कराने के लिए कहा गया है। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष खत्म होने में अभी दो सप्ताह का ही समय बचा है। अगर प्राधिकरणों द्वारा अपने आवंटियों पर दबाव बनाया जाता है, तो अच्छा राजस्व प्राप्त हो सकता है।

Comments are closed.