यूपी चुनाव से पहले बीजेपी में इस्तीफों का दौर, तो दिल्ली में नेताओं का चुनावी मंथन, बड़े पैमाने पर विधायकों का कट सकता है टिकट

टेन न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली, (11/01/22): चुनाव आयोग के तरफ से पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव कि घोषणा के बाद से तमाम पार्टियों में भूचाल मचा हुआ है। हर पार्टी में ऐसे नेताओं कि लंबी लिस्ट देखने को मिल रही है जो चुनाव से ठीक पहले पार्टी छोड़कर दूसरे पार्टी का दामन थाम रहे हैं। देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव पर सबकी नजरें टिकी हुई है। आपको बतादें कि बीजेपी संसदीय बोर्ड आगामी यूपी चुनावों में उम्मीदवारों को मैदान में उतारने के लिए आखिरी फैसला लेने के लिए इस सप्ताह बैठक करने वाला है।

आगामी चुनाव को लेकर लेकर बीते दिनों उत्तर प्रदेश बीजेपी के बड़े नेताओं कि एक अहम बैठक हुई थी। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक भाजपा प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में पुराने विधायकों के टिकट कटने पर चर्चा हुई है। इस बीच माना जा रहा है कि इस बार अधिक संख्या में मौजूदा विधायकों का पत्ता कटने वाला है। गृह मंत्री अमित शाह और योगी आदित्यनाथ समेत राज्य के अन्य नेताओं के बीच पश्चिमी यूपी के लिए पहले दो चरणों के चुनाव के लिए दिल्ली बीजेपी हेड क्वार्टर में आज एक अहम बैठक हुई। जिसमें पहले दो चरण के उम्मीदवारों के नाम तय करने के लिए दिनभर बैठकों का दौर चला।

बीजेपी उत्तर प्रदेश में चुनाव को लेकर लगातार नए चेहरों को मौका देने कि कोशिश कर रही है। आपको बतादें कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ को लेकर नाराजगी देखने मिल रही है। लेकिन बीजेपी का कहना है कि योगी आदित्यनाथ से नहीं वल्कि स्थानीय विधायकों से लोगों कि नाराज़गी है। इसलिए उन विधायकों का पार्टी इस बार टिकट काटने पर विचार कर रही है। सूत्रों की मानें तो मौजूदा विधायकों में से तकरीबन 25 फीसदी चेहरे बदले जा सकते हैं। हालांकि, इसका फैसला इस हफ्ते होने वाली भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में ही होगा ।

आपको बतादें कि आज दिल्ली में जो बीजेपी के नेताओं की अहम बैठक हुई है उसमें सूत्रों के मुताबिक पार्टी 45 से ज्यादा विधायकों का टिकट काट सकती है। बैठक में यह भी चर्चा है कि जो विधायक चुनाव जीत नहीं सकते है उनकी छवि खराब है उनको दोबारा रिपीट ना किया जाए। उनकी जगह पर किसी दूसरे को प्रत्याशी बनाया जाए। इसीलिए तय किया गया है कि भारी पैमाने पर ऐसे विधायकों का टिकट काटा जाएगा।

आपको बतादें कि उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले लगातार बीजेपी में इस्तीफे का दौर जारी है। आज हीं कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने इस्तीफा देकर समाजवादी पार्टी ज्वाइन कर ली है। ऐसा माना जा रहा है कि उनके इस्तीफे के बाद कुछ और बीजेपी नेता सपा में शामिल हो सकते हैं। पहले ही मौर्य के बाद 2-3 नेताओं ने बीजेपे का साथ छोड़ दिया है। जानकारी के मुताबिक अब 2 मंत्री और करीब 10 बीजेपी विधायक ऐसे हैं जो जल्द सपा में शामिल हो सकते हैं। अभी बीजेपी के लिए इन नेताओं को मनाना सबसे बड़ी चुनौती बनी हुई है।

भाजपा के आला नेताओं का कहना है कि केवल वे ही विधायक ​पीछे हट रहे हैं, जिन्हें लग रहा है कि उनका टिकट कट जाएगा। दरअसल इन उम्मीदवारों को आशंका है कि उनके काम के दम पर जब विश्लेषण होगा तो निश्चित तौर पर उनका टिकट कट जाएगा, इसलिए ये लोग पहले से ही इस्तीफा देकर पार्टी से हट रहे हैं। साथ ही बड़े नेताओं का यह भी मानना है कि लोग योगी सरकार की कार्यप्रणाली से खुश हैं। उनसे जनता को किसी तरह की नाराजगी नहीं है। लेकिन कुछ विधायक हैं, जिनसे लोकल स्तर पर जनता परेशान है या नाराज है।

Comments are closed.