- Advertisement -

तीन बड़ी चुनौतियां, जो डुबो सकती है अखिलेश की नैया

टेन न्यूज नेटवर्क

नोएडा (18-01-22): यूपी में पिछले दिनों तक योगी आदित्यनाथ रेस में सबसे आगे दिख रहे थे, सभी सर्वे उनके मजबूती के साथ आगे होने की तरफ इशारा कर रही थी, मुकाबले में दूसरा स्थान सपा प्रमुख अखिलेश यादव का था।

लेकिन अखिलेश यादव ने अपने नए रणनीति से इस पूरे खेल को लगभग बदल दिया है, और वो रणनीति है सभी छोटे एवं क्षेत्रीय दलों के साथ सपा का गठबंधन, जो भाजपा के लिए सरदर्द बन सकती है।

बाबजूद इसके अखिलेश यादव के समक्ष कई और ऐसे चुनौती है जो, उनकी नैया डुबो सकती है, आइए हम क्रमवार तरीके से उन चुनौतियों पर नजर डालते हैं।

अखिलेश यादव के लिए सबसे बड़ी चुनौती है टिकट बटवारा, ज्ञात हो कि पिछले दिनों अलीगढ़ में हुए घटना के बाद समाजवादी पार्टी के लिए टिकट का बटवारा एक बड़ी समस्या बनी हुई है, दरसल अलीगढ़ में पार्टी द्वारा टिकट ना मिलने पर पार्टी दफ्तर के बाहर आदित्य ठाकुर ने खुद पर पेट्रोल डालकर आत्मदाह करने का प्रयास किया था,ऐसे घटनाओं से कार्यकर्ताओं में गलत संदेश जाता है।

सपा प्रमुख के लिए अगली चुनौती है उनके छोटे भाई की पत्नी अपर्णा यादव, दरसल अपर्णा यादव के बागी तेवर अखिलेश की नैया डुबो सकती है।

अगली चुनौती हैं चन्द्रशेखर आजाद, दरसल भीम आर्मी वाले चंद्रशेखर आजाद ने अखिलेश पर दलित विरोधी होने और दलितों की उपेक्षा करने का आरोप लगाया है, ज्ञात हो कि भले लोग चंद्रशेखर को वोट नही देते लेकिन उनकी बात तो जरूर सुनते हैं।

ये सभी चुनौतियां अखिलेश के मुख्यमंत्री बनने को सपने को तोड़ सकती है, अब देखना यह है कि अखलेश इन चुनौतियों से कैसे पार पाते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.