‘जो जहां है वहीं रुक जाए’, पैदल अपने घरों के लिए निकले लोगों से सीएम योगी की अपील

Abhishek Sharma

0 95

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते देश में 14 अप्रैल 2020 तक 21 दिन का लॉक डाउन चल रहा है। ऐसे में लोगों के घरों से बाहर निकलने पर पाबंदी है। वही अचानक हुए इस लॉक डाउन के फैसले के बाद जो लोग दूसरे प्रदेशों में रहकर काम कर रहे हैं या पढ़ रहे हैं, वह वहीं पर रह गए। इस दौरान रेल , बस समेत सभी प्रकार के परिवहन के संचालन पर रोक लगा दी गई। ऐसे में लोग पैदल ही सामान लेकर अपने घरों के लिए निकल लिए हैं।

जिनके लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देश और प्रदेश के लोगों से अपील करते हुए कहा जो भी लोग जिस जगह पर भी है , वह वहीं पर ठहर जाएं प्रवास ना करें। ताकि कोरोना वायरस को आसानी से हराया जा सके।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी लोगों से अपील की है कि वे जहां भी रहें और प्रवास न करें। सीएम योगी आदित्यनाथ का कहना है कि कोरोना वायरस की चैन को तोड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे देश में 21 दिन का लॉक डाउन किया है।

लोग एक दूसरे के संपर्क में नहीं आएंगे या घरों के बाहर नहीं निकलेंगे तो वायरस खुद-ब-खुद समाप्त हो जाएगा। इसके संबंध में योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के सभी जिलों के जिला अधिकारियों को भी निर्देश दिए हैं कि लोग जहां कहीं भी हैं वे वहीं ठहर जाए।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के कई जिलों में लॉक डाउन के दौरान बेहद चौका देने वाली तस्वीरें सामने आ रही हैं। जहां यूपी के चंदौली में रेलवे ट्रैक पर पैदल चलकर बिहार जा रहे लोगों को पकड़ा गया। तो वही देश प्रदेश के अन्य हिस्सों से भी इस तरह की तस्वीरें आई है।

वही गौतम बुध नगर में भी बीती रात इसी प्रकार का वाक्या देखा गया, जहां यमुना एक्सप्रेसवे से होते हुए लोग पैदल ही आगरा व अन्य स्थानों के लिए जा रहे थे। जहां पुलिस ने उन्हें रोककर उनके खाने की व्यवस्था कराई। वहीं बस में बैठा कर उन्हें आगरा तक भिजवाया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.