- Advertisement -

यूपी में बीजेपी का नया दांव, राम कि नगरी अयोध्या से चुनाव लड़ेंगे योगी आदित्यनाथ

टेन न्यूज़ नेटवर्क

0 237

नई दिल्ली, (12/01/22): हिंदुस्तान की राजनीति में सियासत की नगरी रही अयोध्या एक बार फिर से उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में राजनीति का केंद्र रहने वाली है। पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज हो गई है। सभी पार्टियां अपने राजनीतिक मैदान में उम्मीदवारों को उतारने के लिए गहन समीक्षा और बैठक कर रही है। देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव पर सबकी नजरें टिकी हुई है। आपको बता दें कि चुनाव आयोग ने जैसे ही तारीखों का ऐलान किया वैसे ही पार्टियों में उम्मीदवारों को विधानसभा क्षेत्रों से खड़ा करने के लिए मंथन का दौर जारी है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के सबसे बड़े खिलाड़ी योगी आदित्यनाथ कहां से चुनाव लड़ेंगे इस पर कयासों का दौर जारी था, जो अब थमता नज़र आ रहा है। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे। भारतीय जनता पार्टी के सूत्रों के हवाले से यह खबर आई है कि योगी आदित्यनाथ के नाम को लेकर अयोध्या का नाम लगभग तय हो चुका है। अब इस पर सिर्फ आधिकारिक घोषणा बाकी है। आज दिल्ली में बैठक के बाद यह साफ होता दिख रहा है कि सीएम योगी अयोध्या से ही चुनाव लड़ेंगे। फिलहाल एक-दो दिन में स्थिति साफ हो जाएगी।

आपको बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ गोरखपुर संसदीय क्षेत्र से सांसद थे। इसके बाद 2017 विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने तय किया कि योगी आदित्यनाथ प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री होंगे। इसके बाद विधान परिषद के लिए योगी निर्विरोध चुने गए थे। फिर MLC बनने के बाद योगी सीएम बने थे। उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर कयास लगाए जा रहे थे कि योगी आदित्यनाथ अयोध्या, मथुरा या काशी से विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं। लेकिन अब बिल्कुल तस्वीर साफ हो गई है कि योगी आदित्यनाथ अयोध्या से चुनाव लड़ने वाले हैं।

बीजेपी का मानना है कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर का जिस तरीके के निर्माण हुआ उसका सीधा श्रेय बीजेपी को जाता है। पार्टी का कहना है कि योगी जब से प्रदेश के सीएम बने हैं तब से लगातार अयोध्या में विकास की गंगा बह रही है। बीजेपी का यह भी मानना है कि योगी आदित्यनाथ के कुशल नेतृत्व में ही अयोध्या को नई पहचान मिली है। आपको बता दें कि आने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी उत्तर प्रदेश को साधने की भरपूर कोशिश कर रही है। इस बीच बीजेपी के बड़े नेता 300 से अधिक सीटों पर जीत का दावा कर चुके हैं।

पहले दूसरे और तीसरे चरण में होने वाले विधानसभा चुनाव के प्रत्याशियों की घोषणा को लेकर उत्तर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी की अहम बैठक कुछ दिन पहले उत्तर प्रदेश कार्यालय में हुई थी। भारतीय जनता पार्टी के मुख्य मुख्यालय दिल्ली में भी बीजेपी नेताओं का लगातार उम्मीदवारों को लेकर मंथन जारी है। उम्मीद जताई जा रही है कि इसी हफ्ते बीजेपी सेंट्रल कमेटी की बैठक होगी जिसमें पहले तीन चरणों के उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर दी जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.