वर्तमान परिपेक्ष में मानस का सामाजिक पक्ष दर्शाती “मानस रस गंगा” की दीपक श्रीवास्तव द्वारा सुमधुर प्रस्तुति

Rohit Sharma / Baidyanath Halder

147

Greater Noida (13/04/2019) : नोएडा लोकमंच के सांस्कृतिक प्रकल्प पहला कदम संस्कृति की ओर के तत्वाधान में वर्तमान परिपेक्ष में मानस का सामाजिक पक्ष प्रस्तुत करने के लिए मानस रस गंगा का आयोजन किया गया।



यह आयोजन नोएडा के सेक्टर 15 स्थित नोएडा पब्लिक लाइब्रेरी में किया गया इस अवसर पर दीपक श्रीवास्तव ने रामायण की व्याख्या अपने ही अंदाज में की, जिसमें बड़ों का सम्मान, और लक्ष्य प्राप्ति की प्रेरणा हम रामायण के संदर्भ में कैसे प्राप्त कर सकते हैं। गीतो के मध्यम से प्रस्तुत किया जो श्रोतायो को आत्मविभोर कर गया।

इस अवसर पर बोलते हुए पहला कदम संस्कृति की ओर के प्रोजेक्ट चेयरमैन राज्यसभा के पूर्व महासचिव योगेंद्र नारायण ने कहा की नोएडा लोकमंच के सांस्कृतिक प्रकल्प शुरू किया है। इसका उद्देश्य नोएडा आध्योगिक नागरी में अपने सांस्कृतिक जीवन को एक नया मोड़ दे,जिससे की सांस्कृतिक वातावरण बनाया जा सके।

उन्होने मानस रस गंगा की चर्चा करते हुए कहा की राम एक भगवान ही नहीं, एक प्रतीक हैं, जो अपने आदर्श चरित्र से हमे प्रेरित करते है की हमे अपना जीवन कैसा व्यतीत करना चाहिए, आज के विद्यार्थियों को उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए, सीखना चाहिए कि लक्ष्य की प्राप्ति कैसे किया जाए, उन्होने दुखों को झेला, पिता का आदेश मान कर उन्होंने 14 वर्ष का वनवास भी गए।

उन्होने कहा की नोएडा में पूरे वर्ष सभी विधाओं के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है । जिससे गुम होती कला की विधाओ और उभरती प्रतिभा के कलाकारों को जोड़कर एक साझा मंच उपलब्ध कराया जायेगा।

इस अवसर पर नोएडा लोक मंच के महासचिव महेश सक्सेना ने कहा की हम चाहते हैं कि स्कूलों में हर सत्र में हम साथी छात्रों बीच जाकर सांस्कृतिक शून्य को दूर करने का प्रयास करे वरना हमारे बच्चे केवल व्हाट्सएप और गेम में ही उलझ कर के रह जाएंगे। इस कार्यक्रम में नोएडा लोकमंच संस्था के प्रोजेक्ट चैयरमैन योगेंद्र नारायण , महासचिव महेश सक्सेना, मुकुल वाजपेयी और भारती टेलीकॉम के रवि और गजानन माली समेत गणमान्य लोग शामिल हुए ।

Loading...

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.