नोएडा : सेक्टर-50 में डीएमआरसी का निर्माण कार्य महागुन मेस्ट्रो वासियों के लिए बना खतरे का सबब

ABHISHEK SHARMA

0 157

Noida (14/03/20) : नोएडा के सेक्टर 50 में लगभग पिछले 2 वर्षों से डीएमआरसी का आवासीय निर्माण का कार्य चल रहा है। जिसकी वजह से आसपास के रहने वाले लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। आए दिन निर्माणाधीन बिल्डिंग से कुछ ना कुछ गिरने से यहां लोगों पर खतरा मंडराता रहता है। डीएमआरसी की बिल्डिंग में चल रहे निर्माण कार्य से यहां के लोगों का जीना दुश्वार हो रहा है।

आज सोसाइटी में बड़ी दुर्घटना घटित होने से बाल-बाल बचे। हालांकि ऊपर से लोहे की रॉड गिरने से महागुन मेस्ट्रो सोसाइटी में कांच का शीशा टूट कर चूर-चूर हो गया। इस दौरान वहां पर कोई मौजूद नहीं था वरना बड़ी घटना घटित हो सकती थी। सोसाइटी के लोगों का कहना है कि उन्होंने इसके खिलाफ कई बार सेक्टर-51 पुलिस चौकी एवं नोएडा प्राधिकरण में शिकायत की है लेकिन अब तक इस पर कोई कार्यवाही नहीं की गई है।

उनका कहना है कि लगभग 2 वर्ष पहले जब से डीएमआरसी आवासीय परिसर का निर्माण महागुन मेस्ट्रो सोसाइटी के बगल में स्थित भूखंड में शुरू हुआ, तब से सोसाइटी में रहने वाले लोगों के लिए यह एक खतरा बना हुआ है। यह निर्माण यहाँ के निवासियों के सिर पर हर समय खतरे की तरह मंडरा रहा है। बिना रुके लगातार निर्माण कार्य, हर घंटे ट्रकों का आना और जाना, निर्माण श्रमिकों की चीख, निवासियों के लिए सिरदर्दी का कारण बन गया है।

लोगों का कहना है कि पिछले 4-5 महीनों से ऊंची मंजिलों पर निर्माण कार्य चल रहा हैं। मलबे को निचले स्तर तक फेंकने के कारण हवा में धूल की समस्या पहले से मौजूद समस्याओं में बढ़ गई है। निवासियों का कहना है कि लगभग एक महीने पहले महागुन में कम से कम 10 किलोग्राम वजनी एक हथौड़ा ऊपर से गिरा। जिससे यहाँ खड़ी मर्सिडीज कार का शीशा टूट गया।

नोफा की सदस्य रमिता तनेजा ने बताया कि अग्नि परीक्षा यहीं समाप्त नहीं होती है, आज लगभग 4 फीट की भारी धातु की छड़ ऊपर से गिरी और सोसाइटी के क्लब हाउस के कांच के दरवाजे को तोड़ दिया। पूर्व में कई शिकायतें की जा चुकी हैं, लेकिन लगता है कि अधिकारियों ने न सुनने की कसम खा ली है।

वहीं इस बारे में जब डीएमआरसी के कॉर्पोरेट डायरेक्टर अनुज दयाल से बात की गई तो उन्होंने मामले की जानकारी न होने से इंकार कर दिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.