सड़क पर नहीं फेंकनी पड़ेगी उपज, किसान के घर से उत्पाद उठाएगी सरकार

Abhishek Sharma

0 193

Greater Noida (14/01/190) : आए दिन उप्र, पंजाब, हरियाणा और अन्य राज्य से ये समाचार आते हैं कि अधिक उपज होने की वजह से किसानों को उनकी उपज की सही कीमत नहीं मिली। उन्होंने विरोध करते हुए अपनी उपज को सड़क पर फेंक दिया है। आने वाले दिनों में ऐसी स्थिति नहीं रहेगी। खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने ग्रेटर नोएडा एक्सपो सेंटर में ट्रेड प्रमोशन काउंसिल आफॅ इंडिया, टीपीसीआई, की ओर से आयोजित इंडस फूड-2 के उदघाटन के अवसर पर यह जानकारी देते हुए कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने के लिए उनके मंत्रालय-सरकार की ओर से कई कदम उठाए जा रहे हैं।



खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल कहा कि जहां भी अधिक पैदावर होगी वहां पर हम किसानों के घर से उपज उठाएंगे। उन्हें ऐसे राज्य में भेजेंगे जहां पर लोगों के बीच उसकी मांग है। वहीं बची हुई उपज को खाद्य प्रसंस्करण उद्योग को दिया जाएगा। इससे न केवल किसानों की समस्या हल होगी बल्कि उनकी आय दोगुनी करने में भी मदद मिलेगी। इसके लिए नेफेड सहित कई अन्य संस्थानों के साथ करार किये गए हैं। टीपीसीआई के चेयरमेन मोहित सिंघला ने इस अवसर पर कहा कि हम किसानों और उत्पादकों को इंडस फूड के माध्यम से वैश्विक खरीदारों का करार करा रहे है। इससे किसानों को आय दोगुनी करने में मदद मिलेगी। खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय के साथ ही वाणिज्य मंत्रालय इसमें सहयोग कर रहे हैं।

इस अवसर पर ट्रेड प्रमोशन काउंसिल आफॅ इंडिया, टीपीसीआई, के चेयरमेन मोहित सिंघला ने कहा कि इंडस फूड-2 का मुख्य ध्येय-लक्ष्य छोटे-मंझोले उद्योग के लिए निर्यात-एक्सपोर्ट बढ़ाने का अवसर उपलब्ध कराना है। इसके लिए खरीदार या बायर को उनके द्वार पर लाया गया है। जैविक, वैल्यू एडेड और आर्गेनिक उत्पाद बनाने वाले भारतीय उद्योग के लिए इस मेला के माध्यम से कारोबार का अवसर बढ़ेगा। किसानों की आय दोगुनी करने मे भी यह सहायक होगा क्योंंकि जब कारोबार बढ़ेगा तो किसानों की आय दोगुनी होगी।

उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जब इंडस फूड के माध्यम से स्वयं सरकार दुनिया के बेहतरीन उत्पाद खरीदारों को चिन्हित कर रही है और गुणवत्ता युक्त उत्पाद बनाने वाले भारतीय कंपनियोंं-उत्पादकों के साथ उनकी वार्ता का अवसर उपलब्ध करा रही है, इससे सीधे किसानों को लाभ होगा। इतना ही नहीं, हमारे कृषि निर्यात नीति या एग्री एक्सपोर्ट पॉलिसी में जिस 60 बिलियन डॉलर के बिजनेस एक्सपोर्ट का लक्ष्य तय किया गया था, वह अब पहुंच के अंदर होगा।

इंडिया एक्सपो मार्ट, ग्रेटर नोएडा में 14-15 जनवरी को आयोजित हो रहे इंडस फूड-2 में सामने आते या इमर्जिंग ब्रांड, वैल्यू एडेड और आर्गेनिक उत्पाद से जुड़ा है। यह भारत की एक नई पहचान भी स्थापित करेगा। भारत अपनी पाक-कला विविधता के साथ ही योगा, आयुर्वेद के लिए दुनिया में पहचाना जाता है। उस कड़ी में अब इमर्जिंग ब्रांड, वैल्यू एडेड और आर्गेनिक उत्पाद भी इसकी एक नई पहचान होंगे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.