- Advertisement -

भारत एजिस को राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच-44 पर दो टोल प्लाज़ा के संचालन का काम सौंपा गया

0 191

सिंगापुर आधारित फंड क्यूब हाईवेज़ ने एजिस को 30 साल की अवधि के लिए एनएच-44 के झांसी-ललितपुर स्ट्रेच पर टोलिंग संचालन हेतु दो अनुबंध सौंपे

भारत का सड़क नेटवर्क संयुक्त राज्य अमेरिका और चीन के बाद दुनिया में तीसरे स्थान पर है। इस नेटवर्क में एनएच-44 मोटरवे जो उत्तरप्रदेश में झांसी को ललितपुर से जोड़ता है यह उत्तर-दक्षिण काॅरीडोर में प्रमुख लिंक है, जो वर्तमान में भारत में सबसे बड़ा निर्माणाधीन मोटरवे प्रोजेक्ट है।

वर्तमान में सिंगापुर आधारित कंसेशन कंपनी क्यूब हाईवेज़1 के पास भारत में टोल रोड्स का सबसे बड़ा पोर्टफोलियो है। (8900 किलोमीटर सड़कों के साथ 28 सड़कें)। इसे दो सार्वजनिक कंपनियोंः झांसी ललितपुर टोलवे लिमिटेड (49.7 किलोमीटर लम्बे पहले 4-लेन के सेक्शन का इनचार्ज) और झांसी ललितपुर टोलवे लिमिटेड (49.3 किलोमीटर लम्बे दूसरे सटे हुए 4-लेन के सेक्शन का इनचार्ज) के लिए इन दो सटी हुई सड़कों के संचालन का काम सौंपा गया है।

नवम्बर 2014 और मार्च 2012 के बाद से इस प्रोजेक्ट का टोल संग्रहण का अच्छा ट्रैक रिकाॅर्ड है, जो यात्री एवं कमर्शियल ट्रैफिक का अनुकूल संयोजन है।

एजिस, मोटरवे एवं टोल संचालन में विश्वस्तर पर अग्रणी है (दुनिया भर में 4400 किलोमीटर मोटरवेज़, जिसमें 81 किलोमीटर की सुरंगे भी शामिल हैं, जिनका उपयोग 3,500,000 वाहनों द्वारा रोज़ाना किया जाता है), इसे प्रमुख झांसी-ललितपुर मार्ग पर दो टोल प्लाज़ा (प्रत्येक 8 लेन) के प्रबन्धन एवं संचालन के लिए चुना गया है।

यह परियोजना नवम्बर 2019 में प्रतिस्पर्धी निविदा के बाद, नेशनल हाईवेज़ एजेन्सी ऑफ़ इंडिया (NHAI) द्वारा टीओटी3 (टोल ऑपरेट ट्रांसफर) योजना के तहत 30 साल के कंसेशन के रूप में सौंपी गई है।

कई सालों से एजिस देश के बुनियादी सड़क ढांचे के विकास एवं अपग्रेडेशन में सक्रिय रहा है। यह नया संचालन अनुबंध देश के सतत आर्थिक एवं सामाजिक विकास में एजिस के सशक्त योगदान की पुष्टि करता है।

1 क्यूब हाईवेज़ के शेयरधरक अग्रणी अन्तर्राष्ट्रीय निवेशक हैं, जिनमें आई स्क्वेयर्ड कैपिटल, आबू धाबी इन्वेस्टमेन्ट अथॉरिटी की पूर्ण स्वामित्व की सब्सिडरी, इंटरनेशनल फाइनैंस कोरपोरेशन तथा मित्सुबिशी कोरपोरेशन, जापान ओवरसीज़ इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेन्ट कोरपोरेशन फाॅर ट्रांसपोर्ट एण्ड अरबन डेवलपमेन्ट, ईस्ट निप्पोन एक्सप्रेसवे कंपनी लिमिटेड और जापान एक्सप्रेसवे कंपनी इंटरनेशनल लिमिटेड सहित जापानी निवेशकों का एक संघ शामिल है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.