बिल्डर पड़े नरम, बायर्स को मिल सकते हैं फ्लैट नेफोमा की याचिका पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में हुई सुनवाई.

262

नेफ़ोमा

बिल्डर पड़े नरम, बायर्स को मिल सकते हैं फ्लैट
पिछले चार साल से बिल्डरों की मनमानी का दंश झेल रहे ग्रेटर नोएडा वेस्ट के पुराने खरीदारों के अच्छे दिन आने की उम्मीद जगी है। नेफोमा की याचिका पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में हुई सुनवाई के दौरान बिल्डरों ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि वह पुराने बायर्स को फ्लैट देने के लिए राजी हैं। हालांकि बिल्डरों ने बायर्स द्वारा पहले बुक किए फ्लैटों के स्थान पर दूसरी उपलब्ध यूनिट में फ्लैट देने की बात कही है। अदालत ने बिल्डरों को दो माह का वक्त देते हुए मामले को सुलझाने को कहा है। इस घटनाक्रम को लेकर रविवार को हुई नेफोमा की बैठक में बायर्स ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर हाईकोर्ट का आभार व्यक्त किया। नेफोमा अध्यक्ष अन्नू खान
ने बताया कि कोर्ट से फैसले की प्रमाणित कॉपी मिलने के बाद बिल्डरों से संपर्क कर फ्लैट की राशि स्वीकार करने को कहा जाएगा।
गौरतलब है कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट के पुराने खरीदारों के फ्लैट कैंसल करने के मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने चार बिल्डरों के खिलाफ जमानती वारंट जारी किए थे। कोर्ट ने यह आदेश एक सितम्बर को नेफोमा की याचिका पर जारी किया था। इसी क्रम में नौ अक्टूबर को बिल्डरों ने अपना जवाब हाईकोर्ट में दाखिल किया। अपने जवाब में बिल्डरों ने कहा कि यदि पुराने खरीदार फ्लैट लेने के लिए दावा करते हैं तो उन्हें फ्लैट दिया जाएगा। हालांकि अब बायर्स को उनकी बुक की गई यूनिट के स्थान पर उपलब्ध दूसरी स्कीमों में फ्लैट दिया जाएगा। बिल्डरों को इस मामले को हल करने के लिए दो माह का समय मिला है। हाईकोर्ट के इस घटनाक्रम को लेकर रविवार को हुई नेफोमा की बैठक में बायर्स ने खुशी का इजहार किया। नेफोमा प्रेसिडेंट अनू खान ने कहा कि हाईकोर्ट की प्रमाणित कॉपी मिलने के बाद वह बायर्स के साथ बिल्डरों से संपर्क स्थापित कर फ्लैट देने की मांग करेंगे। बैठक में अन्नू खान, रवि शंकर त्रिवेदी, संजय नैलवाल, गौरव अग्रवाल , डा० ज्ञानेश शर्मा, विनीत वर्मा, उपकार सिह, विवेक शर्मा, सचिन वर्मा, राहुल त्रिपाथी, ललित गुप्ता, मो. यूनुस, आरिफ़ खान, देवकांत आदि फ़्लैट आँनर्स ने भाग लिया ।

 

 

Comments are closed.