नॉएडा परिवहन विभाग जल्द करेगा 4 हज़ार वाहनों का रजिस्ट्रेशन कैंसिल, एनजीटी के आदेश के बाद आई सख्ती

ROHIT SHARMA / JITENDAR PAL

0 411

NOIDA : दिल्ली एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण को लेकर एनजीटी के आदेश के बाद नोएडा का परिवाहन विभाग ने अपनी कमर कसनी शुरू कर दी है | आपको बता दे की नोएडा के परिवाहन विभाग ने कुछ दिन पहले 15 साल पुराने वाहनों पर कार्यवाही करते हुए 30 से ज्यादा गाड़ियों को सीज कर दिया था | अब इसके बाद परिवाहन एक नई कार्यवाही करने जा रहा है | आपको बता दे की यदि आपके वाहन का रजिस्ट्रेशन डीजल के हिसाब से 10 साल और पेट्रोल के हिसाब से 15 साल पुराना है तो आप सतर्क हो जाएं। आपका वाहन कभी भी सीज किया जा सकता है। परिवहन विभाग जल्दी से जल्दी 4 हजार वाहनों का रजिस्ट्रेशन कैंसल करने जा रहा है। इनके लिए एनजीटी के आदेश पर कार्रवाई की जा रही है। परिवाहन विभाग के ए के पांडेय का कहना है कि इन वाहनों के रजिस्ट्रेशन कैंसल करने के बाद इनके नंबर सार्वजनिक किए जाएंगे। इसके बाद इनमें से जो भी वाहन चलते हुए मिले, उस पर पेनल्टी लगाने के साथ ही उन्हें सीज कर दिया जाएगा। साथ ही उन्होंने ये भी बताया की यूपी-16 ए, बी, सी व अन्य कई सीरीज हैं जो करीब 15 साल से भी ज्यादा पुरानी हैं। वहीं अब प्रदूषण पर कंट्रोल करने और एनजीटी के आदेश को गंभीरता से लागू करने के लिए विभाग ने करीब 4 हजार वाहनों की सूची तैयार की है। करीब सप्ताह भर में इन वाहनों का रजिस्ट्रेशन कैंसल कर दिया जाएगा।

10 साल से ज्यादा पुराने वाहन पर पेनल्टी के साथ होंगे सीज

साथ ही विभाग का कहना है 10 साल पुराने डीजल के वाहन और 15 साल पुराने पेट्रोल व सीएनजी के जो भी वाहन विभाग में रजिस्टर्ड हैं, विभाग ने उनके स्वामियों को इन वाहनों का स्टेटस बताने के लिए सर्कुलर भेजा है। इससे विभाग को इसका संज्ञान रहे कि कौन से वाहन हैं जो पहले से ही चलने बंद हो गए हैं। लोगों की सूचना के बाद लिस्ट को अपडेट किया जाएगा। इसके बाद जो भी वाहन सड़क पर चलते पाए गए, उन पर पेनल्टी लगाने के साथ ही सीज किया जाएगा।

स्कूल और प्राइवेट बसों में मानक पुरे न होने पर होगी सख्त कार्यवाही

स्कूल बसों में मानक पूरे कराने के लिए परिवहन विभाग अधिकारियों ने कमर कस ली है। आपको बता दे की परिवाहन विभाग के द्वारा स्कूलों को नोटिस जारी किया गया है की गौतम बुद्ध नगर के सभी स्कूलों में चल रही बसों के मानक पुरे होने चाहिए अगर किसी भी स्कूल के बसों में पुरे मानक नहीं मिलते है तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी | वही दूसरी तरफ तीन प्रवर्तन अधिकारियों द्वारा स्कूल बसों को चेक किया जा रहा है ।

पार्किंग न होने के चलते नहीं खरीद पाएंगे नया वाहन

शहर में नए वाहन खरीदने वालों को अब मुश्किलें बढ़ सकती है। पार्किंग न होने के चलते वह नया वाहन नहीं खरीद पाएंगे। गौर रहे कि शहर में अधिकतर लोग किराए के मकान में रहते हैं। ऐसे में उनके पास किसी तरह की पार्किंग नहीं है। वह या तो किराए की पार्किंग में अपने वाहन लगाते हैं या फिर सड़क के किनारे। ऐसे में जिन लोगों ने अभी तक वाहन नहीं लिए हैं, नए नियमों के तहत उनके लिए नई गाड़ी खरीदना मुश्किल हो जाएगा। वही इस मामले में परिवाहन विभाग का कहना है की कार खरीदारों की अब एनओसी की प्रक्रिया से गुजरना होगा। आरटीओ कार्यालय की ओर से सभी नए वाहन मालिकों को इस संबंध में सूचित कर दिया गया है। ऐसे में साफ हो गया है कि शहर में वही लोग नए वाहन खरीद सकेंगे, जिनके पास पार्किंग की पूरी व्यवस्था होगी। अन्यथा उनके वाहन की रजिस्ट्रेशन नहीं होगी।

गौतम बुद्ध नगर के परिवाहन विभाग अगले कुछ दिनों में व्हीकल रजिस्ट्रेशन के लिए नया सॉफ्टवेयर वाहन 4 शुरू करने जा रहा है। उनका कहना है कि व्हीकल रजिस्ट्रेशन के लिए नया सॉफ्टवेयर वाहन 4 शुरू होने के बाद व्हीकल रजिस्ट्रेशन का सारा काम ऑनलाइन हो जाएगा। वाहन 4 नया सॉफ्टवेयर काफी कारगर है। सारा रिकॉर्ड ऑनलाइन मूव होगा। अगर व्हीकल खरीदने वाले के डॉक्यूमेंट्स पूरे हैं तो दो-तीन दिन में आरसी बनकर मिल जाएगी। वर्तमान व्यवस्था के तहत इसे एक हफ्ते से ज्यादा का समय लग रहा है। लोगों को इस नए सिस्टम का फायदा ही होगा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.