नोएडा : लॉकडाउन का उल्लंघन पडेगा महंगा, 87 लोगों पर एफआईआर दर्ज, करीब 2 हजार लोगों के कटे चालान

Abhishek Sharma /Lokesh Goswami Tennews

0 159

कोरोना वायरस से बचाव के लिए सबसे बेहतरीन उपाय है घर में रहना। बाहर भीड़ इकट्ठी ना हो, इसको देखते हुए कई राज्य सरकारों ने लॉकडाउन का ऐलान किया है। लगभग पूरा देश लॉकडाउन की स्थिति में है, लेकिन इस बीच भी कई लोग लगातार बाहर निकल रहे हैं और सड़कों पर खुले में आ जा रहे हैं।

ऐसे ही लोगों के खिलाफ उत्तर प्रदेश में कड़ी कार्रवाई की गई है। नोएडा में सभी बॉर्डर सील कर दिए गए हैं। लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है। डॉक्टर, पुलिस, मीडिया कर्मी समेत कुछ लोग हैं, जिनको लॉकडाउन में बाहर निकलने की अनुमति है। जो लोग बिना काम के बाहर घूम रहे हैं, नोएडा पुलिस उनको पकड़ कर गैर जिम्मेदार नागरिक का टैग दे रही है। तो वहीं कुछ लोगों पर लॉक डाउन का पालन न करने पर एफ आई आर भी दर्ज की गई है।

वहीं कई जगह वाहनों के बड़ी संख्या में चालान भी काटे गए हैं। सोमवार को लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर यूपी के 17 जिलों में करीब 500 एफआईआर दर्ज की गई हैं।

वहीं अगर गौतम बुध नगर की बात करें तो यहां पर ही पुलिस ने 96 एफआईआर दर्ज की हैं। इसके अलावा 1995 वाहनों का चालान काटा गया है। बता दें कि कोरोना वायरस के चलते नोएडा में धारा 144 लगा दी गई है। ऐसे में एक जगह 4 से अधिक लोग एकत्रित नहीं हो सकते हैं।

उत्तर प्रदेश के नोएडा में पुलिस की ओर से लगातार अपील की जा रही है कि लोग लॉकडाउन का पालन करें। पुलिस ने लोगों से कहा है कि अगर कोई व्यक्ति लॉकडाउन का उल्लंघन करता है, तो उसपर कार्रवाई की जाएगी जरूरत पड़ने पर गिरफ्तारी भी हो सकती है। नोएडा में कुल 86 बैरियर प्वाइंट बनाए गए हैं, जहां पर लोगों की जांच की जा रही है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में ही लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर 87 केस दर्ज किए गए हैं, साथ ही लोगों को सख्त हिदायत भी दी गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.