नोएडा में सात दिवसीय नाट्य महोत्सव का होगा आयोजन , 27 जनवरी से होगा शुरू , 2 हज़ार से ज्यादा बच्चे लेंगे भाग

Talib Khan / Rohit Sharma

186

Noida, (10/1/2019): नोएडा लोकमंच अपने सांस्कृतिक प्रकल्प “पहला कदम संस्कृति की ओर”.के प्रोजेक्ट चेयरमैन राज्यसभा के पूर्व महासचिव योगेंद्र नारायण के अगुआई में सात दिवसीय नाट्य महोत्सव का आयोजन 27 जनवरी से 2 फरवरी 2019 तक किया जा रहा है। जिसको लेकर आज नोएडा लोकमंच संस्था द्वारा एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया |

प्रेस वार्ता करते हुए “पहला कदम संस्कृति की ओर”.के प्रोजेक्ट चेयरमैन राज्यसभा के पूर्व महासचिव योगेंद्र नारायण ने कहा की नोएडा में सात दिवसीय नाट्य महोत्सव का आयोजन पहली बार हो रहा है , जो नोएडा के सेक्टर 6 में स्थित इंदिरा गाँधी कला केंद्र में होगा |

साथ ही उनका कहना है की ये कार्य्रकम काफी महत्वपूर्ण होगा , जिससे नोएडा के सभी गणमान्य लोगों को सीखने को मिलेगा | वही उन्होंने बताया की इस नाट्य महोत्सव में राष्टीय स्तर के प्रतिष्ठत और नोएडा के स्कूलों के उभरते हुए छात्रों की भी भागीदारी होगी।



“पहला कदम संस्कृति की ओर”.के प्रोजेक्ट चेयरमैन राज्यसभा के पूर्व महासचिव योगेंद्र नारायण ने बताया की “इस कार्यक्रम में 2 हज़ार से ज्यादा छात्र छात्रा हिस्सा लेंगे। साथ ही ये कार्यक्रम एक हफ्ते तक चलेगा , जिसमे अभिनेता , अभिनेत्री समेत राज्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री इस कार्यक्रम में उपलब्ध होंगे |

वही उन्होंने बताया की इस कार्यक्रम के लिए नोएडा प्राधिकरण ने इंदिरा गाँधी कला केंद्र को निः शुल्क नॉएडा लोकमंच को दिया है। करीबन 160 बच्चो को जो विजेता रहेंगे उनको ब्लेजर सहित महत्वपूर्ण अवार्ड से नवाजा जाएगा |

योगेंद्र नारायण ने कहा की इस कार्यक्रम के ज़रिये नॉएडा लोकमंच नॉएडा और ग्रेटर नॉएडा के कलाकारों को एक मंच देना चाहता है, जिससे उनकी कला का प्रदर्शन हो सके और वो लोगो की नज़रो में आ सके”।

इस नाट्य महोत्सव में सारे नाटक सामाजिक स्तर पर किये जाएंगे। इस नाट्य महोत्सव में स्कूलों को 4 श्रेणी में बांटा गया है जिसमे सरकारी स्कूल , एन जी ओ स्कूल , सेमि पब्लिक स्कूल, और पब्लिक स्कूल के बच्चे भाग लेंगे। इस कार्यक्रम के ज़रिये नॉएडा लोकमंच प्रदेश में नए नाट्य ऑडिटोरियम बनाने के लिए भी प्रस्ताव रखेगा। जिससे इस तरह के कार्यक्रमों के लिए जगह मिल सके जो की नाट्य गतिविधियों के लिए उचित रहे।

वही दूसरी तरफ उनका कहना है की आज के समय में सभी भारत की संस्कृति को भूलते जा रहे है , जिसको लेकर ये कार्यक्रम आने वाली पीढ़ी समझ सके की उनकी संस्कृति क्या है | साथ ही इस कार्य्रकम मे नोएडा में हुए विकसित कार्य को लेकर नाट्य कार्यक्रम किया जाएगा , जिससे लोग जागरूक हो सके |

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.