नोएडा के सार्वजनिक पार्कों में नमाज पड़ने को लेकर हुआ घमासान , जिला प्रशासन ने जारी किया अपना बयान

Talib Khan / Rohit Sharma / Rahul Jha

0 222

Noida, (25/12/2018): नोएडा में जुम्मे की नमाज को लेकर हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है । आपको बता दें कि पिछले जुम्मे को नोएडा के सेक्टर 58 में स्थित पार्क में कुछ मुस्लिम भाई नमाज पढ़ने के लिए एकत्र हुए थे जिसके बाद मौके पर पुलिस ने पँहुच कर उन्हें नमाज पढ़ने से रोक दिया था ।

वहीँ अधिकारियों का कहना है कि कुछ लोगों द्वारा जिला प्रशासन से नोएडा के सेक्टर 58 में स्थित पार्क में जुम्मे की नमाज पढ़ने की परमीशन माँगी थी लेकिन जिला प्रशासन ने इसकी अनुमति देने से मना कर दिया था बाबजूद इसके कुछ लोगों ने वहाँ पर नमाज पढ़ने की कोशिश की थी इसलिए पुलिस द्वारा उन्हें रोका गया है ।

वहीँ ये विवाद नोएडा के गलियों से होता हुआ लखनऊ के राजनैतिक गलियारों तक पंहुचने के बाद अब गर्मा गया है पहले नोएडा के एसएसपी अजयपाल शर्मा की सफाई देने के बाद अब नोएडा के डीएम बी.एन. सिंह भी पुलिस के बचाते हुए नजर आए ।

नोएडा के डीएम बी.एन. सिंह प्रेस वार्ता कर मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि आज एक समाचार पत्र में एक न्यूज छपी है वो बहुत अलग है । पुलिस कप्तान से इस बारे में बात की जा सकती थी । सेक्टर 58 में नोएडा अथॉरिटी का एक पार्क है। कुछ लोगो ने अनुमति मांगी थी कि यहाँ नमाज अदा करना है। लेकिन प्रशासन ने इसकी अनुमति नहीं दी थी । सुप्रीम कोर्ट का आदेश है कि किसी भी पब्लिक प्लेस पर कोई भी धार्मिक कार्यक्रम करना है तो सिटी मजिस्ट्रेट की अनुमति लेना जरूरी है। पुलिस ने जो काम किया नियमो के तहत काम किया है। पब्लिक प्लेस पर यदि कोई भी गतिविधि करनी है तो अनुमति लेकर करे।
नोएडा में हमेशा एक ऐसा इंवॉइरननेट है कि सब स्वतंत्र है। सभी धर्मों के लिए सुप्रीम कोर्ट का नियम लागू होता है।

वही इस मामले में गौतमबुद्ध नगर के एसएसपी का कहना है की ये नोएडा पुलिस ने सार्वजनिक स्थलों पर बिना जिला प्रशासन की अनुमति धार्मिक गतिविधियों पर रोक लगाई है , अगर जिला प्रशासन अनुमति देता है तो कोई भी कार्यकम किया जा सकता है | साथ ही उनका कहना है की इस पार्क में काफी लोगो को भीड़ हो गयी थी | साथ ही बिना अनुमति की कुछ मुस्लिम भाई नमाज पढ़ने के लिए एकत्र हुए थे | जिसको लेकर एक नोटिस जारी किया गया था |

वही दूसरी तरफ एक कार्यक्रम में पहुँचे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह कहना है की अगर प्रशासन ने नोटिस जारी कर रोक लगाई है तो उसका पालन होना चाहिए । उन्हें नमाज उचित जगह पर पढ़नी चाहिए क्योकि अगर शासन प्रशासन कोई आदेश जारी करता है तो उसको सभी को मानना चाहिए।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.