ज़िले में 300 स्थानों को चिन्हित कर तैनात किए जाएंगे ट्रैफिक एडवाइजर

ABHISHEK SHARMA

0 89

Greater Noida (21/10/19) : चौराहे पर यातायात पुलिस नहीं है और आप नियमों को तोड़ते हुए जा रहे हैं, तो मुसीबत में फंस सकते हैं। यातायात पुलिस ने नोएडा व ग्रेटर नोएडा के करीब 300 प्वाइंट चिह्नित किए हैं, जहां अब ट्रैफिक एडवाइजर तैनात किए जाएंगे। ट्रैफिक एडवाइजर उन चौराहों पर ट्रैफिक संचालन से लेकर चालान करने तक की जिम्मेदारी संभालेंगे।



चालान के लिए उन्हें नियम तोड़ने वालों का फोटो लेकर नोडल अधिकारी के वाट्सएप पर भेजना होगा। यह लोग यातायात कर्मियों की गतिविधियों से भी अधिकारियों को अवगत कराएंगे। अभी प्रयोग चल रहा है और जिले में एक नवंबर से इसे लागू कर दिया जाएगा। जिले में कुछ स्थानों पर अक्सर सड़क हादसे होते रहते हैं। ऐसे करीब 300 स्थान चिह्नित किए गए हैं।

जिले में करीब 300 यातायात कर्मी तैनात हैं। इसमें प्रतिदिन व औसतन 10 फीसद कर्मचारी अवकाश पर रहते हैं। प्रतिदिन 20 से 30 कर्मचारियों की वीवीआइपी व वीआइपी की ड्यूटी लगाई जाती है। 200 से भी कम कर्मचारी शेष बचते हैं, जिन्हें सभी चौराहों पर एक साथ तैनात नहीं किया जा सकता है।

यातायात पुलिस ने जिले को चार जोन में बांटा है। जोन नोएडा, ग्रेटर नोएडा, दादरी और जेवर के लिए एक-एक नोडल अधिकारी नियुक्त किए जाएंगे। नोडल अधिकारी अपने जोन के सभी ट्रैफिक एडवाइजर से संपर्क में रहेंगे। सभी एडवाइजर जाम, हादसे, यातायात नियमों का उल्लंघन करने समेत अन्य समस्याओं की जानकारी नोडल अधिकारी को देंगे। हादसे में घायलों को अस्पताल पहुंचाने तक की जिम्मेदारी ट्रैफिक एडवाइजर की होगी।

एसपी ट्रैफिक अनिल झा का कहना  है कि जिले में करीब 150 प्वाइंट पर यातायात कर्मियों की नियुक्ति की जाएगी। इनकी ड्यूटी प्रतिदिन बदलती रहेगी, ताकि बाकी के 150 प्वाइंट को भी कवर किया जा सके। ट्रैफिक एडवाइजर कर्मचारियों के ड्यूटी पर आने, प्वाइंट पर मौजूदगी व उनकी अनुपस्थिति आदि गतिविधियों को भी जानकारी अधिकारियों को देंगे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.