नोएडा में शुरू हुआ अर्ली इंटरवेंशन सेंटर, बच्चों की गंभीर बीमारियों का होगा इलाज

0 333

नोएडा :  जिला अस्पताल में अब नवजात शिशु से लेकर 18 साल तक के बच्चो की जन्म से जुड़ी बीमारियों के लिए परिवार को इधर उधर चक्कर लगाने की जरूरत नही पड़ेगी ।

अब   बेहतर इलाज के लिए चाइल्ड सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में  डिस्ट्रिक्ट अर्ली इंटरवेंशन सेंटर खुल गया है । इस सेंटर में गरीब बच्चो को बीमारियों से  छुटकारा पाने में काफी हद  तक मदद मिलेगी।

इन्हें 4 कैटेगरी में रखा गया है । (1)  defect at birth (2)  deficiency (3) disease (4) developmentals delays leading to disability – जिनका उम्र के अनुसार इलाज होगा ।

आज उत्तर प्रदेश सरकार की केबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा ने जिला अस्पताल के चाइल्ड सुपर स्पेशलिटी में डिस्ट्रिक्ट अर्ली इंटरवेंशन का उद्धघाटन किया । इस मौके पर जिलाधिकारी बीएन सिंह व सीएमओ डॉ अनुराग भार्गव, सासंद प्रतिनिधि संजय बाली सहित चाइल्ड सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के सभी डॉक्टर्स मोजुद थे । कार्यकर्म को संबोधित करते हुए मंत्री रीता बहुगुणा ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री मोदी जी का मानना है कि देश की तरक्की के लिए देश के नागरिकों का स्वास्थ्य होने की बेहद जरूरत है  और यह तभी संभव है जब बच्चो का बचपन स्वस्थ होगा ।

उन्होंने कहा कि आज देश मे हर वर्ष जन्मजात शिशु की संख्या 2.7 करोड़ है जिसमे से 15 लाख बच्चो को कुछ ना कुछ कमी पाई जाती है । इससे निपटने के लिए सरकार की तरफ से कई योजनाएं चलाई जा रही है । गर्भ में जब बच्चा होता है तो उसकी जाँच कर उसमें किस किस चीज  की कमी है उसके निवारण की भी सुविधा सरकार द्वारा मुहैया कराई जा रही है।

यह पता लगाया जा सकता है और इसके बाद इन कमियों को दूर करने के लिए डॉक्टर संपूर्ण आहार गर्भवती को देते है ।  कंगारू मदर प्रोग्राम बच्चो की जान बचाने में बेहद कारगर साबित हो रहा है।

डिस्ट्रिक्ट अर्ली इंटरवेंशन जैसी योजना को यूपी सरकार हर जनपद में जल्द शुरू करेगी । हमारी सरकार स्वास्थ के प्रति सदा जागरूक रही है साथ ही पूरे उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य के प्रति काफी योजनाएं चलाई गई है जिनसे बच्चो से लेकर बढे बूढे को मदद मिल रही है । अगर बच्चा स्वस्थ होगा तभी वो बड़ा होकर देश का निर्माण करेगा ।

आपको बता दे कि पूरे जनपद में 8 मोबाइल हेल्थ टीम है जो बच्चों की जांच के लिए प्रशिक्षित है इनके दुआरा बच्चो का वजन ,लंबाई, बच्चो की दृष्टि जाँच एव आवश्यकतानुसार निशुल्क चश्मे ,नाक, कान, दाँत एव पूरे शरीर की जाँच की जाती है । अगर कोई भी विकार दिखाई देता है उन बच्चो को उपचार स्वास्थ केंद्र पर जिला अस्पताल के डिस्ट्रिक्ट अर्ली इंटरवेंशन के माध्यम से कराया जाएगा ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.