पँजाब को कट्टरपंथ की ओर धकेलने में कांग्रेस की भूमिका की हो जाँच, एडवोकेट विवेक गर्ग ने उठाई माँग

टेन न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली (06/01/2022): जहाँ आज पूरा देश कल पंजाब में प्रधानमंत्री के काफ़िले के साथ हुई घटना के बाद सकते में है वहीं वरिष्ठ अधिवक्ता विवेक गर्ग का मानना है कि ऐसे समय मे पंजाब के बिगड़ते माहौल कि जड़ तलाशना बेहद आवश्यक हो जाता है।

पंजाब के रहस्य “भारत आतंकवाद के घेरे में” किताब का उल्लेख करते हुए वह कहते हैं कि कांग्रेस ने पंजाब में जो खालिस्तान के बीज बोए थे, उसका परिणाम और भुगतान ना सिर्फ कांग्रेस ने किया है बल्कि पूरे देश ने किया है और जिसके चलते आज भी देश में कहीं ना कहीं आग सुलग रही है। “कुदरत का एक अटल सत्य है कि जो जैसा बोयेगा वह वैसा ही पाएगा जिसके जैसे कर्म उसके वैसे ही फल,” अधिवक्ता गर्ग ने कहा।

पंजाब के पूर्व पुलिस प्रमुख बीरबल नाथ द्वारा लिखी इस किताब में कई महत्वपूर्ण खुलासे भी किये गए हैं। मसलन किताब के पेज नंबर 80 पर उन्होंने लिखा है “सिखों को इस तरह उकसा कर कट्टरपंथ की तरफ धकेलने की जिम्मेदारी पंजाब की तत्कालीन कांग्रेस सरकार और निरंकारियों की है। इन्हीं लोगों ने जेरनैल सिंह भिंडरा वाले को फ्रेंकस्टीन बनाया है और सिखों के दिलों में पंत को खतरे में होने का शक पैदा किया था । पंजाब में जो खालिस्तान की जड़ बोया गया है, वह कांग्रेस की देन है। जिसकी भुगतान ना सिर्फ पंजाब सरकार और वहां के लोगों ने, बल्कि पूरे देश ने मिलकर किया है। आज भी कांग्रेस द्वारा बोए गए बीज पंजाब को ना सिर्फ एक नशे की तरफ बल्कि एक विनाश की तरफ भी ले जा रहा है। एक हंसता खेलता पंजाब को कांग्रेस ने अपने संयंत्रों से उसे खराब और बर्बाद किया है।”

एडवोकेट विवेक गर्ग ने देश के प्रधानमंत्री और गृहमंत्री से निवेदन किया है कि बीरबल नाथ के किताब में जो खुलासे किए गए हैं उस पर एक जांच आयोग बिठाया जाए। इसके लिए कांग्रेस के जो भी नेता जिम्मेदार है उस पर एफ आई आर दर्ज करी जाए और उसकी जल्द गिरफ्तारी की जाए। ताकि पंजाब में यह जो खालिस्तान के बीज बोए गए हैं उसके लिए दोषी नेताओं को जल्द से जल्द सजा मिल सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.