यमुना प्राधिकरण का बडा फैसला, 50 हजार किसानों को बढाकर दिया जाएगा मुआवजा

ABHISHEK SHARMA

0 125

यमुना प्राधिकरण ने यीड़ा सिटी एरिया के अंतर्गत आने वाले गौतम बुद्ध नगर के किसानों को दिवाली का बड़ा तोहफा देने की तैयारी कर ली है। प्राधिकरण करीब 5 वर्ष बाद मुआवजे की दर बढ़ाने जा रहा है। मौखिक सहमति बन जाने के बाद प्राधिकरण ने प्रस्ताव बनाकर औद्योगिक विकास आयुक्त को भेज दिया है। सहमति मिल जाती है तो नवंबर से इसे लागू कर दिया जाएगा।

दरअसल यमुना प्राधिकरण के अंतर्गत 5 जिले गौतम बुद्ध नगर, अलीगढ़, मथुरा, आगरा व हाथरस आते हैं। फिलहाल गौतम बुद्ध नगर के क्षेत्र के किसानों से जमीन लेकर विकसित किया जा रहा है। इस जिले में कुल 96 गांव हैं, जिनकी जमीन ली जा रही है।

विभिन्न परियोजनाओं के लिए अभी करीब 50 हजार किसानों की जमीन अधिग्रहित की जानी है। अब तक 29 गांवों में आंशिक रूप से जमीन का अधिग्रहण हो चुका है। इनके अलावा 67 गांव ऐसे हैं, जिनकी जमीन ली जानी है।

यहां कई बड़ी परियोजनाएं प्रस्तावित हैं। नोएडा एयरपोर्ट के दूसरे तीसरे चरण के लिए करीब 10 गांवों की जमीन अधिग्रहित होनी है। इसके अलावा सेक्टर 8, 9, 30, 31 को लॉजिस्टिक हब के रूप में विकसित करने के लिए जमीन की दरकार है।

वहीं औद्योगिक सेक्टर 29, 32, 33 के लिए भी जमीन चाहिए। मेडिकल डिवाइस पार्क भी प्रस्तावित है। इन परियोजनाओं के लिए जमीन किसानों से ली जाएगी। इसे ध्यान में रखते हुए जमीन का मुआवजा बढ़ाने का फैसला लिया गया है।

फिलहाल यमुना प्राधिकरण में मौजूदा मुआवजे की दर ₹1827 प्रति वर्गमीटर और साथ ही 7 फीसदी भूखंड है। अब इसे ₹2000 प्रति वर्ग मीटर और साथ ही 7 फीसदी आवासीय भूखंड करने का प्रस्ताव है। अगर कोई आवासीय भूखंड के बजाय पैसा लेना चाह रहा है तो उसे ₹2300 प्रति वर्ग मीटर की दर से मुआवजा मिलेगा।

नोएडा एयरपोर्ट के पहले चरण के लिए जमीन इसी दर से ली गई है। जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह ने मुआवजे की दर बढ़ाने का प्रस्ताव प्राधिकरण को दिया था, जिसके आधार पर प्राधिकरण के सीईओ अरुणवीर सिंह मुआवजा बढ़ाने को तैयार हो गए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.