रातभर आसमान दिखाई दिया रंगीन, सुबह को छाई धुंध

Abhishek Sharma

60

Greater Noida (8/11/18) : दिवाली से पहले लोगों को तरह-तरह के जागरूक पोस्टरों के साथ देखा गया, डीएम ने भी दिवाली को प्रदुषण मुक्त मनाने के लिए ज़िले में विभिन्न स्थानों पर रैली निकलवाई थी। सुप्रीम कोर्ट का सख्त आदेश था कि दिवाली पर केवल ग्रीन पटाखे जलाए जा सकते हैं लेकिन उसके लिए भी सुप्रीम कोर्ट ने रात्रि में 8 से 10 बजे का समय निर्धारित किया था और ग्रेटर नोएडा के करीब 40 स्थानों को जिलाधिकारी ने पटाखे फोड़ने के लिए चिन्हित किया गया था लेकिन लोगों ने सुप्रीम कोर्ट और जिलाधिकारी के निर्देशों की धज्जी उड़ाते हुए घरों में या घर के सामने करीब 1 बजे तक पटाखे फोड़े जिससे ज़िले में प्रदुषण का स्तर काफी बढ़ गया है।

प्रदुषण बढ़ने के कारण धुंध बढ़ गई है। लोगों का घर से निकलना दुश्वार हो गया है। जो लोग रात भर पटाखे फोड़ते नजर आए, वही लोग सुबह होने पर बच्चों को प्रदुषण के बढ़ जाने के कारण घर से बाहर निकलने पर रोक लगाते दिखाई पड़े। प्रदुषण बढ़ जाने से लोगों को सांस लेने में दिक्कत हो रही है। जिसके चलते ज़िले में कई अस्पतालों में सुबह-सुबह कई बुजुर्गों को देखा गया।

सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का पालन न करने वालों के खिलाफ पुलिस प्रशासन की ओर से बड़ी कार्यवाही की गई है। नोएडा के विभिन्न थाना क्षेत्रों से 47 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने रात भर नोएडा में गश्त कर 47 लोगों को किया गिरफ्तार।

गुरूवार की सुबह प्रदूषण खतरे के निशान से काफी ऊपर मापा गया है जो की शहरवासियों के लिए चिंता का विषय है।

जिलाधिकारी ने ग्रीन पटाखे बेचने के लिए लाइसेंस जारी किया था लेकिन ज़िले के कई स्थानों पर बिना लाइसेंस के दुकानदारों को पटाखे बेचते हुए देखा गया। ग्रीन पटाखों की जगह प्रदूषणकारी पटाखों की जमकर बिक्री की गई। अब देखने का विषय यह होगा कि प्रशासन ऐसे दुकानदारों के खिलाफ क्या कार्रवाई करता है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.