आम आदमी पार्टी ने उपराज्यपाल पर लगाया दिल्ली सरकार के खिलाफ षड्यंत्र का आरोप

0 338

आम आदमी पार्टी कार्यालय में पत्रकारों को संबोधित करते हुए आप पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा आम आदमी पार्टी एक लम्बे समय से ये बात कहती आ रही है कि दिल्ली की पुलिस आम आदमी पार्टी के विधायको को झूठे और अनर्गल केसों में फसा कर आम आदमी पार्टी को बदनाम करने की कोशिश करती रही है! अनाप-शनाप चार्जशीट के तहत खुले आम  हमारे विधायको को गिरफ्तार करके पुलिस गलियों से घुमाते हुए लेकर जाती है, ताकि जनता के बीच उनकी छवि ख़राब कर सके और उन्हें बदनाम कर सकें!

 

केंद्र सरकार को बड़ी उत्सुकता थी की दिल्ली में फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट बनाए जाए, ताकि आम आदमी पार्टी के विधायको को जल्द से जल्द जेल भेजा जा सके, लेकिन हो इसका उल्टा रहा है! फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट होने की वजह से हमारे विधायक एक के बाद एक बरी होते जा रहे हैं! कोर्ट ने न केवल हमारे विधायको को बरी किया बल्कि पुलिस को फटकार लगाई और चेतावनी देते हुए कहा कि दिल्ली पुलिस क्यों इस तरह के झूठे और राजनीती से प्रेरित केस कोर्ट के समक्ष पेश कर रही है!

 

उन्होंने कहा की मुझे लगता था कि इन केसों में कोर्ट के द्वारा जो आदेश दिए गए, उनको देखते हुए उप-राज्यपाल साहब संज्ञान लेंगे और दिल्ली पुलिस कमिश्नर को पूछेंगे कि ये कैसे हो रहा है कि झूठे केसों में विधायको को फसाया जा रहा है, और क्यों नहीं इसकी जांच होनी चाहिए कि क्या दिल्ली पुलिस भाजपा का संयंत्र बन गई है, जिसके ज़रिये भाजपा जिस पर चाहे झूठे केस करवा देती है! क्या दिल्ली पुलिस को सोच-समझ कर मुक़दमे दर्ज नहीं करने चाहिए! परन्तु उपराज्यपाल पाल साहब बिलकुल इसके उलट काम कर रहे हैं!

 

एक चिट्ठी का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस को फटकार लगाने के बजाए उपराज्यपाल साहब के ऑफिस से दिल्ली के कमिश्नर अमूल्य पटनायक से ये पूछा गया है कि ये कैसे हो रहा है, कैसे आम आदमी पार्टी के विधायक बरी होते जा रहे हैं! एक सप्ताह के अन्दर दिल्ली पुलिस कमिश्नर को एक रिपोर्ट बनाकर उपराज्यपाल के दफ्तर में जमा कराने के लिए कहा गया है! खास तौर पर उपराज्यपाल के निशाने पर आप विधायक अमानतुल्ला खान है! 2015 में जब अमानतुल्ला आम आदमी पार्टी से विधायक बने तो पांच साल पुराने एक केस में एक नया सेक्शन लगाकर उन्हें फसाने की कोशिश की गई, जिसके लिए कोर्ट में दिल्ली पुलिस को फटकार खानी पड़ी!

 

उपराज्यपाल के दिल्ली पुलिस को लिखे गए पत्र की बात करते हुए उन्होन कहा कि आप सबको जानकार बड़ी हैरानी होगी के पत्र में उपराज्यपाल साहब ने कुछ लोगो के बारे में खास तौर पर पूछा है कि ये लोग कैसे बच गए!

उनके नाम इस प्रकार है….

1-      अरविन्द केजरीवाल (मुख्यमंत्री)

2-      मनीष सिसोदिया (उप-मुख्मंत्री)

3-      कैलाश गहलौत (परिवहन मंत्री)

4-      अमानतुल्ला खान (विधायक)

5-      नरेश बाल्यान (विधायक)

6-      मनोज कुमार (विधायक)

Leave A Reply

Your email address will not be published.