- Advertisement -

अरविंद केजरीवाल ने लॉकडाउन में दी बड़ी राहत , होटल , बाजार सोमवार से खुलेंगे , ऑड इवन का नियम किया खत्म

Ten News Network

0 311

नई दिल्ली :– दिल्ली में कोरोना का प्रकोप बहुत ज्यादा कम होने पर केजरीवाल ने रोक हटाने का फैसला लिया है , जी हाँ अरविंद केजरीवाल ने लॉकडाउन में बड़ी राहत दी है। आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस वार्ता करते हुए महत्वपूर्ण जानकारी दी है।

 

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सोमवार से हर दिन मॉल्स और बाजार खुल सकेंगे, लेकिन सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक. रेस्टोरेंट को भी 50% सिटिंग कैपेसिटी के साथ खोलने की इजाजत दे दी गई है। हालांकि, सारे स्कूल-कॉलेज, कोचिंग इंस्टीट्यूट बंद रहेंगे. सामाजिक, धार्मिक, राजनीतिक गतिविधियों पर रोक रहेगी. जिम, पब्लिक पार्क, गार्ड, योगा इंस्टीट्यूट बंद रहेंगे।

वहीं, सरकारी दफ्तर में 100% अधिकारी और बाकी कर्मचारी 50% क्षमता के साथ काम करेंगे. प्राइवेट ऑफिसेस में 50% कैपेसिटी के साथ 9 से 5 बजे तक काम करेंगे। सरकार दफ्तर पिछले हफ्ते की तरह ही खुलेंगे। यानी ग्रुप ए के कर्मचारी 100 प्रतिशत उपस्थिति के साथ दफ्तर आ सकते हैं। अन्य कर्मचारियों को 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ आना होगा।

 

पुलिस विभाग और अस्पताल जैसी जरूरी सेवाओं में लगे कर्मचारियों को 100 प्रतिशत उपस्थिति की अनुमति होगी। निजी दफ्तर में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ कर्मचारी काम कर सकते हैं।

 

अधिक से अधिक वर्क फ्रॉम होम का प्रयास करें। जितने भी मार्केट परिसर, मॉल या बाजार हैं वो पूरी तरह से खुल सकते हैं, लेकिन सुबह 10 से शाम आठ बजे तक। रेस्त्रां अपनी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुल सकते हैं। एक हफ्ते तक इन नियमों के साथ चलकर देखा जाएगा। अगर कोरोना के मामले बढ़ने लगे तो बाजार और रेस्त्रां में फिर से पाबंदियां बढ़ा दी जाएंगी।

 

हफ्ते में एक जोन में एक दिन में एक ही साप्ताहिक बाजार खोलने की अनुमति होगी। पूरी तरह से सार्वजनिक स्थानों में शादियां अभी नहीं होंगी। अगर बैंक्वेट हॉल, मैरेज हॉल या होटल में शादियां हो रही हैं तो 20 लोगों से अधिक शामिल नहीं होंगे। इसके अलावा घर या अदालत में शादी हो सकती है।

 

मेट्रो और बसों का संचालन 50 प्रतिशत क्षमता के साथ किया जाएगा। ऑटो और ई-रिक्शा जैसे सार्वजनिक साधनों में सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जाएगा। धार्मिक स्थलों को खोला जा रहा है, लेकिन अभी श्रद्धालुओं को आने की अनुमति नहीं है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.