नोएडा : देशभर में ई – कॉमर्स एफडीआई के विरोध में दवा व्यापारियों का भारत बंद का रहा मिलाजुला असर

0 300

नॉएडा : आज देशभर में ई-कॉमर्स कंपनी और 100 फीसदी एफडीआई के विरोध मे दवा व्यापारी हड़ताल पर है साथ ही केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट फेडरेशन ऑफ यूपी ने प्रदेशभर में दवा की दुकानों को बंद रखने का फैसला लिया था देशभर के दवा कारोबारी ई-फार्मेसी का विरोध कर रहे हैं। वे इस पर सरकार से ऐतराज भी जता चुके हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं होने पर उन्होंने आज एक दिन की हड़ताल शुरू कर दी है, जिसके लिए एक बार फिर भारत बंद का आह्वान किया गया है।

जिसके चलते नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ,मुजफ्फरनगर और मुरादाबाद समेत पूरे वेस्ट यूपी सभी मेडिकल स्टोर बंद हैं।

वही नॉएडा की बात करे यहां पर भी भारत बंद का मिलाजुला असर देखने को मिला ,क्योंकि एक तरफ जहा कुछ मेडिकल बंद मिले तो कुछ मेडिकल स्टोर खुले हुए थे। नोएडा में दो हजार से ज्यादा केमिस्ट शॉप के बंद होने के बात कही गई थी लेकिन कुछ लोगों ने मेडिकल स्टोर खोल रखे हैं। वही नोएडा में कुछ मेडिकल स्टोर के बंद होने से मरीजों को दवाएं खरीदने में दिक्कत का सामना करना पड़ेगा।

केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन ने सरकार के सामने अपनी तीन मांगे रखी। पहली दवा व्यापार में ई-फार्मेसी सिस्टम बंद होना चाहिए।दूसरी औषधि नियंत्रण प्रशासन दिसंबर2017 तक निर्गत खुदरा दवा दुकानों के लाइसेंस के अनुपात में फार्मासिस्ट की कमी को सरकार पूरा करें और तीसरी मांग औषधि प्रशासन के अधिकारियों द्वारा दवा कानून के विरुद्ध बनाए नियम द्वारा दवा व्यावसाइयों का उत्पीड़न बंद हो।
जहां कुछ मेडिकल स्टोर वालो ने इस हड़ताल को जायज बताया, और कहा कि सरकार एक्ट लागू करने की तैयारी में है,जिसका हम विरोध कर रहे हैं। इससे न सिर्फ दवा कारोबारियों बल्कि मरीजों को भी नुकसान होगा। इसलिए सभी केमिस्ट इसका विरोध कर रहे हैं। आज सभी थोक व रिटेल मेडिकल स्टोर बंद रहे।

तो वही कुछ मेडिकल स्टोर वाले इस हड़ताल का विरोध कर रहे है ,उनका कहना है कि अगर व भी अपनी मेडिकल स्टोर बंद करेंगे तो आम जनता जो को दवाइया लेने में खासा परेशनियों का सामने करना पड़ेगा इसलिए उन्होंने अपनी दुकान बंद नही की।

Leave A Reply

Your email address will not be published.